नर्मदांचल के एक और सूपत ने गौरवान्वित किया

नर्मदांचल के एक और सूपत ने गौरवान्वित किया

इटारसी। नर्मदा (Narmada) की माटी के एक और सपूत ने नर्मदांचल (Narmadanchal) का नाम रोशन किया है।

माखननगर (Makhannagar) के रहने वाले चंद्रभान खयाल (Chandrabhan Khayal) को उर्दू भाषा में साहित्य अकादमी पुरस्कार (Sahitya Akademi Award) 2021 मिल रहा है। चंद्रभान खयाल को उनके कविता संग्रह ताजा हवा की ताबिशें (Taza Hawa Ki Tabishen) के लिए उर्दू भाषा में साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला है।
मूल रूप से नर्मदापुरम के माखननगर निवासी चंद्रभान खयाल मप्र उर्दू अकादमी (MP Urdu Academy) के उपाध्यक्ष भी रहे चुके हैं। मंगलवार को साहित्य अकादमी के सचिव श्रीनिवास राव (Srinivasa Rao) ने साहित्य अकादमी पुरस्कारों की घोषणा की है। ये पुरस्कार 11 मार्च 22 को दिल्ली में आयोजित होने वाले साहित्य उत्सव में प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार में एक उत्कीर्ण ताम्रफलक, शॉल और एक लाख रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!