एनएच 69 का पुल टूटा : जानें, कहां से निकाले जा रहे हैं वाहन

एनएच 69 का पुल टूटा : जानें, कहां से निकाले जा रहे हैं वाहन

– डेढ़ सौ साल पुराना पुल गिरा, नागपुर-इटारसी हाईवे बंद

– भारी वाहनों को बैतूल-हरदा-होशंगाबाद मार्ग से डायवर्ट किया

इटारसी। राष्ट्रीय राजमार्ग 69 पर ग्राम सुखतवा में अंग्रेजी शासनकाल में बना पुल आज एक ट्राला गुजरने के दौरान टूट गया। घटना में ट्राले के ड्रायवर को मामूली अंदरूनी चोट आयी है, जबकि पांच अन्य को कोई चोट नहीं आयी। पुल टूट जाने से यहां से यातायात पूरी तरह से बंद हो गया है। हल्के वाहनों को कालाआखर-कासदा-नीमखेड़ा के ग्रामीण रास्तों से डायवर्ट किया है जबकि भारी वाहनों को बैतूल-हरदा-नर्मदापुरम और भोपाल तरफ के वाहनों को नर्मदापुरम-हरदा-बैतूल होकर निकाला जा रहा है।
घटना की जानकारी मिलते ही नर्मदापुरम कलेक्टर नीरज कुमार सिंह और एसपी गुरुकरण सिंह, एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी और अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी लेकर वैकल्पिक मार्ग की संभावना पर विचार किया। कलेक्टर ने पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को जल्द से जल्द मार्ग तलाशकर ट्रैफिक चालू कराने के निर्देश दिये हैं।

अंग्रेजों के जमाने का था पुल

बताया जाता है कि यह पुल करीब डेढ़ सौ वर्ष पुराना था, जिसकी मियाद भी खत्म हो चुकी थी, बावजूद इसके नया पुल नहीं होने से इसी से काम चलाया जा रहा था। आज दोपहर करीब डेढ़ बजे पुल करीब 127 टन वजनी मशीन लेकर आ रहे ट्राले का भार नहीं सह सका और 138 पहिए वाला ट्राला पुल से गुजरा तो पुल टूटा और मशीन समेत भरभराकर ढह गया। हादसे के बाद इटारसी-नागपुर हाइवे पर यातायात बाधित हो गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के रिकार्ड अनुसार इस पुल की मियाद पूरी हो चुकी थी। हादसे के बाद मौके पर केसला-पथरोटा का पुलिस बल तैनात किया है। पुल टूटने के बाद हाइवे पर दोनों तरफ भारी जाम लग गया है।

डायवर्ट कर रहे हैं मार्ग

केसला पुलिस के अनुसार बैतूल खबर की गई है और वहां से हरदा होकर वाहनों को डायवर्ट किया जा रहा है। इसी तरह से नर्मदापुरम से हरदा मार्ग पर वाहन भेजे जा रहे हैं। फिलहाल इस मार्ग से भारी वाहनों की आवाजाही नहीं हो पा रही है। केवल छोटे वाहन नदी सूखी होने से साइड से किसी तरह से निकल पा रहे हैं तो कुछ लोकल के लोगों को जिन्हें जंगल के छोटे रास्ते मालूम हैं, वे उसका उपयोग कर रहे हैं।

पावर ग्रिड आ रही थी मशीन

जानकारी के अनुसार पथरोटा की पावर ग्रिड कार्पाेरेशन में लगाई जाने वाली 127 टन वजनी मशीन हैदराबाद से इस ट्राले में भेजी गई थी। 6 मार्च को ट्राला लोड होकर चला था। पुलिस के अनुसार 4 दिन पहले बैतूल के पास सातामउ में ट्राला खराब होने से खड़ा रहा, इसे ठीक करने के लिए बैंगलुरु से कंपनी के इंजीनियर आए थे, रविवार सुबह ही ट्राला मशीन लेकर इटारसी के लिए निकला था। दोपहर करीब डेढ़ बजे जब ट्राला पुल से गुजरा तो अत्याधिक भार की वजह से पूरा पुल ढह गया। हादसे में ट्राला चालक और क्लीनर को चोट पहुंची है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार तेज आवाज के साथ पुल टूटकर गिरा तो आसपास हड़कंप मच गया। संयोग से उस वक्त पुल के दोनों ओर कोई दूसरे वाहन नहीं थे।

हाइवे हुआ जाम

वर्तमान मेंं आवाजाही के लिए यही एकमा पुल था, नदी के नीचे से कच्ची सड़क से दोपहिया वाहन तो किसी तरह निकल रहे हैं, लेकिन भारी वाहनों के निकलने का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया है। एनएचएई के उपमहाप्रबंधक संजीव शर्मा ने बताया कि सुखतवा पुल की आयु पूरी हो चुकी थी, काफी पुराना ब्रिज होने के कारण इसका आधिकारिक रिकार्ड तो नहीं है, लेकिन यह आयु पूरी करने के बावजूद सालों से उपयोग में लिया जा रहा था, अत्यधिक भारी ट्राले के भार के कारण यह हादसा हुआ है।

नहीं ली थी अनुमति

इस मामले में प्राथमिक जांच के बाद ट्राला मालिक पर प्रकरण दर्ज किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग पर जोखिम भरे या सड़क-पुल की भार क्षमता से ज्यादा भारी वाहनों की पासिंग के लिए विधिवत अनुमति ली जाती है, जिससे किसी तरह का हादसा न हो, लेकिन ट्राला संचालक और पावर ग्रिड कार्पोरेशन ने भारी मशीन लाने के लिए किसी तरह का सर्वे या अनुमति नहीं कराई, इस वजह से इतना बड़ा हादसा हुआ।
शर्मा ने बताया कि नए फोरलेन के नक्शे में सुखतवा नदी पर नया पुल सड़क के साथ आ रहा है, हालांकि यह तैयार नहीं हुआ है, ऐसी हालत में हाइवे पर यातायात सुचारू करने के लिए वैकल्पिक मार्ग बनाना प्रशासन के लिए चुनौती साबित होगा। इस मामले में पुलिस अधीक्षक गुरूकरण सिंह ने बताया कि यातायात सुचारू करने के लिए फोर्स तैनात किया गया है।

इनका कहना है…
अभी लाइटवेट वाहनों को कच्चा रास्ता तैयार करके निकाला जा रहा है। भारी वाहनों को हरदा, होशंगाबाद और इटारसी से डायवर्ट किया जा रहा है। जब तक कच्चे रास्ते की भार क्षमता की जानकारी नहीं होगी, भारी वाहनों को डायवर्टेट रूट से ही निकाला जाएगा।
गौरव सिंह बुंदेला, थाना प्रभारी केसला

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!