Breaking : मेहरागांव में हुए सनसनीखेज हत्याकाण्ड का हुआ खुलासा

Breaking : मेहरागांव में हुए सनसनीखेज हत्याकाण्ड का हुआ खुलासा

इटारसी। गुरुकरण सिंह पुलिस अधीक्षक, अवधेश प्रताप सिंह अति० पुलिस अधीक्षक होशंगाबाद मार्गदर्शन में महेन्द्र सिंह चौहान एस.डी.ओ.पी. इटारसी के निर्देशन में थाना प्रभारी रामस्नेह चौहान थाना इटारसी एवं उप निरी. विवके यादव थाना इटारसी व थाना प्रभारी पथरोटा नागेश कुमार वर्मा द्वारा सनसनीखेज हत्याकाण्ड का खुलासा किया गया।

घटनाक्रम

28 अप्रैल को 10.30 बजे डायल 100 पर सूचना प्राप्त हुई कि मेरे पिता को बड़ी नहर में मोटर साईकिल सहित जान से मारने की नियत से फेंक दिया और मुझे भी नहर में मंजले और उसके साथी ने फेंक दिया था में छोटी शाखा से बाहर निकल गया हूँ। गंभीर सूचना होने से थाना प्रभारी अपने साथ बल लेकर मौके पर पहुंचे, घटना सही पाई गई।

कार्यवाही

घटना की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुये तलाश एवं पतारसी हेतु थाने से तीन टीम बनाई गई। 1 टीम में स्वय थाना प्रभारी नागेश वर्मा हमराह का.व.प्र0आर. 136 संदीप पटैल, चालक प्र.आर. कन्हैयालाल यादव 02 टीम में सउनि मानिक सिंह बट्टी, प्र.आर. 260 हेंमत सिंह, आर. राजेन्द्र 03. टीम में सउनि हीरालाल धुर्वे प्र.आर. 312 विनोद आर. टीटू को अलग अलग जगह पर भेजा गया। परंतु कोई सफलता नहीं मिलने पर गुम इंसान कायम कर जांच में लिया गया ।
शाम को थाना शिवपुर से जानकारी प्राप्त हुई थाना क्षेत्र में एक शव मिलने पर पहचान उसके परिजनों द्वारा कराई गई जो गुमशुदा का शव है। थाने में मर्ग कायम कर जांच में लिया गया।
जांच के दौरान घटना के पीडित एवं अन्य परिजनों के कथन में जानकारी मिली कि हीरालाल मासाब के घर पर 20-25 दिन से गांव का ही राजेश उर्फ मंजले चौरे का आना जाना ज्यादा था।
साक्षी ने भी राजेश उर्फ मंजले द्वारा उसके दोस्त के साथ 28 अप्रैल के रात्री करीब 02 बजे घर आकर, डीलक्स मोटर साईकिल पर मेरे पिता को बैठाकर पडियार के पास झल्लाये तरफ ले जाने का कहकर, मुझे उसके दोस्त की मोटर साईकिल में बिठाकर इटारसी नाला मोहल्ला, मुक्ति धाम, गौची तरौदा होते हुये बडी नहर तरफ से राजेश उर्फ मंजले आगे आगे चल रहा था। तब ही गाडी रोककर, मेरे पिता को मोटर साईकिल साहित नहर के पानी में फेक दिया। फिर मुझे मंजले और उसके दोस्त ने पकडकर बडी नहर में फेंक दिया। सामने छोटी शाखा होने से पानी के बहाब में, मैं छोटी शाखा में आ गया। और कुछ दूरी पर मैं निकल गया और डरा सहमा होने के कारण वही पर रहा। उजाला होने पर पैदल अपने घर जा रहा था। नयागांव के पास में मेरे भाईया कमोद चौधरी मिले उन्हें सारी बात बताई।
सम्पूर्ण जांच पर हत्या एवं हत्या करने का प्रयास पाया जाने से कथनों के आधार पर राजेश उर्फ मंजले को आज पुलिस हिरासत में लेकर मेमोरण्डम लिया गया। राजेश ने गांव के ही राजकुमार बरखने के साथ में यह घटना को अंजाम दिया।

क्यों हुई हत्या

हीरालाल चौरे लकवा की बीमारी से पीडित था और वह पानी में तैर नही सकता था और लडका भी शाररिक रूप से कमजोर होने से वह भी पानी में तैर ही सकता था। उसके पास एक मकान तीन प्लांट, दो एकड जमीन होने से दोनों को खत्म कर उक्त जायजाद को हडपने की नियत होने से राजेश उर्फ मंजले चौरे द्वारा अपने साथी राजकुमार बरखने को रुपये पैसो का लाचल देकर उक्त घटना घटित करना पाया गया। जिस थाना पथरौटा में अपराध क्रमांक 102/2022 धारा 302,307,34 भादवि का कायम कर विवेचना जा रही है ।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!