शराब माफिया के खिलाफ सख्त कार्यवाही, अवैध निर्माण तोड़े

शराब माफिया के खिलाफ सख्त कार्यवाही, अवैध निर्माण तोड़े

नर्मदापुरम। कलेक्टर नीरज कुमार सिंह (Collector Neeraj Kumar Singh) के निर्देशानुसार जिले में भू माफियाओं, शराब माफियाओं एवं गैरकानूनी कार्यों में लिप्त अपराधियों के खिलाफ निरंतर कार्रवाई की जा रही है।
मंगलवार को अनुविभागीय दंडाधिकारी पिपरिया नितिन टाले (Sub-Divisional Magistrate Pipariya Nitin Tale), एसडीओपी पिपरिया शिवेंदु जोशी (SDOP Pipariya Shivendu Joshi), तहसीलदार राजेश बोरासी (Tehsildar Rajesh Borasi), थाना प्रभारी स्टेशन रोड, एवं सीएमओ ने एक अतिक्रमण तोड़ा है। अंबेडकर वार्ड से लगातार अवैध शराब विक्रय की शिकायत प्राप्त हो रही थी। जहां बिन्नू पिता खुशीलाल अवैध कब्जा कर दुकान मकान निर्माण कर उसमें अवैध शराब विक्रय कर रहा था। आज अतिक्रमण को पूर्णत: ध्वस्त कर भूमि मुक्त करायी है। बिन्नू पर अवैध शराब का बेचने, अड़ीबाजी एवं अन्य आपाराधिक मुकदमे भी दर्ज हैं।
इसी प्रकार राज पिता राजू द्वारा अवैध कब्जा की गई भूमि पर बाउड्रीवाल बनाकर अवैध कब्जा किया जा रहा था। शिकायत पर इस अवैध कब्जे को मुक्त कराया है। राज के विरूद्ध भी आपराधिक प्रकरण दर्ज हं। एसडीएम नितिन टाले ने बताया कि तहसील पिपरिया अंतर्गत नगर पालिका पिपरिया के अंबेडकर वार्ड में अवैध शराब विक्रय एवं गुंडागर्दी की शिकायतों को देखते हुए क्षेत्र में कानून व्यवस्था एवं शांति बनाये रखने हेतु प्रशासन एवं पुलिस द्वारा सख्त कदम उठाये गये हं।
अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही जारी
जिले में अवैध शराब के खिलाफ जिला प्रशासन निरंतर कार्यवाही कर रहा है। मंगलवार को अवैध शराब बिक्री की शिकायतों पर आबकारी एवं पुलिस विभाग के संयुक्त दल ने कार्यवाही की। सहायक जिला आबकारी अधिकारी एनपी सिंह एवं विनोद सल्लाम के नेतृत्व में आबकारी वृत्त नर्मदापुरम ए, बी, इटारसी शहर, औद्योगिक क्षेत्र इटारसी, सोहागपुर ,पिपरिया के एवं पुलिस लाइन से प्राप्त पुलिस बल द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर छापामार कार्यवाही कर कोरी घाट क्षेत्र में धन्ना कहार के कब्जे से 10 लीटर कच्ची शराब, फेफरताल क्षेत्र में पप्पू इंडोले के कब्जे से 75 पाव देसी सादा शराब, हरदा बाईपास चौराहे पर मनमोहन यादव के कब्जे से 25 देसी सादा शराब एवं सब्जी मंडी क्षेत्र से 45 पाव देसी शराब जप्त कर आरोपियों पर मध्य प्रदेश आबकारी अधिनियम की धारा 34.1(क)के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिए। कार्यवाही में आबकारी उपनिरीक्षक सुयश फौजदार, वासुदेवाचार्य त्रिपाठी, राजेश साहू, नीलेश पवार एवं आबकारी एवं पुलिस बल का सक्रिय भूमिका रही।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!