साढ़े सत्रह घंटे खुले तवा बांध के गेट, इतना पानी किया डिस्चार्ज
The gates of Tawa Dam open for seventeen and a half hours

साढ़े सत्रह घंटे खुले तवा बांध के गेट, इतना पानी किया डिस्चार्ज

इटारसी। लगातार साढ़े सत्रह घंटे खुले रहने के बाद आज शाम 3:30 बजे तवा बांध (Tawa Dam Gate) के गेट बंद कर दिये गये हैं। शनिवार को सुबह 9 बजे एक गेट को 3 फीट खोलकर 5357 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज करना प्रारंभ किया था। 12 घंटे बाद रात 9 बजे पानी की 15000 क्यूसेक आवक को देखते हुए 5 गेट 5 फीट तक खोलकर 44065 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया जाने लगा था।
जल संसाधन विभाग के एसडीओ नवलकिशोर सूर्यवंशी (SDO Naval Kishore Suryawanshi) के अनुसार सुबह 5 बजे बांध का जलस्तर 1166 फुट पर था और पांच गेट से पानी छोड़ा जा रहा था जो सुबह 10 बजे भी इसी स्थिति में रहा। सुबह 11 बजे दो गेट बंद कर दिये और 3 गेट पांच फीट खुले रखे जिनसे 26439 क्यूसेक पानी छोड़ा जाने लगा। दोपहर 1 बजकर 50 मिनट पर और दो गेट (Tawa Dam Gate) बंद कर दिये और केवल एक गेट को तीन फुट खोले रखकर 5357 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। उधर बरगी (Bargi Dam Gate) के भी तीन गेट 0.5 मीटर खोलकर 234 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। तवा बांध (Tawa Dam Gate) के सभी गेट लेबल 1165.80 होने पर बंद कर दिये गये।

पिछले चौबीस घंटे में वर्षा की स्थिति

पिछले चौबीस घंटे में जिले में डोलरिया तहसील को छोड़कर लगभग सभी जगह आंशिक वर्षा दर्ज की गई है। सिवनी मालवा में 32 मिमी, पचमढ़ी में 18, होशंगाबाद में 14.8 मिली, इटारसी में 4.6, बनखेड़ी में 3, सोहागपुर में 5, पिपरिया में 1 मिमी वर्षा दर्ज की गई। जिले में 8.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। जिले में अब तक कुल 1019.1 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में 1350.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी।

अगले चौबीस घंटे की संभावना

बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान गुल-आब के असर से रविवार से मध्यप्रदेश के दक्षिणी क्षेत्र स्थित भोपाल, जबलपुर, इंदौर, होशंगाबाद, उज्जैन संभागों के जिलों में झमाझम बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है। इनमें से कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा भी हो सकती है। मौसम विज्ञान केंद्र के के अनुसार वर्तमान में उत्तर मप्र पर हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात मौजूद है। मानसून ट्रफ भोपाल से होकर गुजर रहा है। अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र अब हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात बन गया है। जिसके चलते मिल रही नमी के कारण प्रदेश के अधिकांश जिलों में बौछारें पड़ रही हैं।
चक्रवाती तूफान गुल-आब (cyclonic storm gul-aab) के असर से पूरे प्रदेश में बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है। विशेषकर भोपाल, इंदौर, जबलपुर, होशंगाबाद, उज्जैन संभागों के जिलों में तेज बौछारें पड़ेंगी। रीवा, सागर, शहडोल, ग्वालियर, चंबल संभागों के जिले में हल्की बौछारें पड़ने के आसार हैं।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!