थम गया सदी का स्वर, आवाज ही पहचान है

थम गया सदी का स्वर, आवाज ही पहचान है

इटारसी। सदी का स्वर थम गया है। स्वर कोकिला, सुर साम्रगी लता मंगेशकर (lata mangeshkar)अब हमारे बीच नहीं रहीं। भारत रत्न से सम्मानित लता मंगेशकर लंबे समय से बीमार थीं। उन्होंने रविवार को 92 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस ली।

स्वर कोकिला के निधन के बाद देश में राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है।
कोरोना वायरस (corona virus) से पीडि़त होने के बाद लता मंगेशकर को 8 जनवरी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तभी से वह वहां उपचाररत थीं। लगभग एक माह के लंबे संघर्ष के बाद 6 फरवरी को लता मंगेशकर ने इस दुनिया से विदाई ली। उनका अंतिम संस्कार आज ही किया जाएगा। उनके घर जाकर लोग उनके अंतिम दर्शन कर रहे हैं। शाम 4.30 बजे लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर मुंबई (mumbai) के शिवाजी पार्क (shivaji park) में ले जाया जाएगा, जहां उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी और संस्कार किया जाएगा। सरकार ने लता मंगेशकर के अंतिम संस्कार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ करने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (narendra modi) आज शाम को ही मुंबई पहुंचेंगे, वह लता मंगेशकर के अंतिम दर्शन करेंगे और उन्हें विदाई देंगे। पीएम मोदी करीब 4.30 बजे मुंबई पहुंचेंगे।
लता मंगेशकर के निधन पर देश में दो दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है, इस दौरान सभी स्थानों पर तिरंगा आधा झुका रहेगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (ramnath kovind), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (amit shah), कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (rahul gandhi) समेत तमाम दिग्गज नेताओं, अभिनेताओं और अन्य क्षेत्र से जुड़े लोगों ने लता मंगेशकर के निधन पर दुख व्यक्त किया है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!