इटारसी और आसपास नहीं हो रही गेहूं की खरीद, यह है वजह

इटारसी और आसपास नहीं हो रही गेहूं की खरीद, यह है वजह

इटारसी। गेहूं समर्थन केंद्र पर 2 दिन गुजर जाने के बाद भी खरीदी शुरू नहीं हो सकी है। जिसकी मुख्य वजह सोसायटी (Society) का कमीशन (Commission) नहीं आना और तौलकांटे की मरम्मत होना बताया जा रहा है। दूसरी ओर किसान भी सोसायटी की तरफ कम रुझान कर रहे हैं। इसकी मुख्य वजह समर्थन मूल्य रेट 25 रुपए तक प्रति क्विंटल गेहूं कृषि मंडी में व्यापारी खरीद रहे हैं। इस वजह से समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र की ओर किसान रुख नहीं कर रहा है। किसानों का कहना है कृषि मंडी में गेहूं की फसल बेचकर हमें नगद पैसा मिल रहा है। वहीं दूसरी ओर समर्थन मूल्य खरीदी के बाद उनके खाते में 1 हफ्ते से 15 दिन में आता है।

लाखों रुपया लटका है सोसायटियों का

इटारसी (Itarsi) और ग्रामीण क्षेत्रों की कई सोसायटी समितियों ने पिछले साल गेहूं, धान और मूंग खरीदी की थी। इसका आज तक कमीशन नहीं मिला है। सोसायटियों के पिछले साल खरीदे के कमीशन रुकने की वजह से अभी तक समितियों ने खरीदी शुरू नहीं की है। जिला आपूर्ति निगम के महाप्रबंधक ने जल्दी कमीशन समितियों को देने का आश्वासन दिया है। इटारसी शहर के सहकारी बैंक के सुपरवाइजर (Supervisor) बृजमोहन चौरे ने बताया कि रामपुर, सनखेड़ा घाटली, रैसलपुर और ब्यावरा में की जाएगी बारदाने और तौलकांटे मिल चुके हैं जल्दी ही यहां पर खरीदी भी शुरू की जाएगी।
वहीं सहकारी बैंक पुरानी इटारसी (Co-operative Bank Old Itarsi) के सुपरवाइजर बसंत दीक्षित ने बताया कि छीतापुरा, कालाआखर, केसला, चांदौन, सोनतलाई, बिछुआ, मरोड़ा, पथरोटा, गोंची तरोंदा, भट्टी, जमानी और मलोथर में खरीदी केंद्र शुरू हो चुके हैं यहां पर वारदान पहुंच गये हैं। तौलकांटों की मरम्मत की जा रही है जल्दी ही खरीदी शुरू की जाएगी।

20 से 25 रूपये मंहगा बिका गेहूं

गुरुनानक ट्रेडिंग कंपनी (Guru Nanak Trading Company) के अजय कुमार खन्ना ने बताया कि आज इटारसी मंडी (Itarsi Mandi) में गेहूं समर्थन मूल्य से 20 से 25 रुपया अधिक बिका है। जबकि समर्थन मूल्य 2015 रुपया है। आज कृषि उपज मंडी में गेहूं अधिकतम 2040 रूपये बिका। मंडी में गेहूं की आवक 1448 हजार बोरा के करीब बताई जा रही है। वहीं सरबती गेहूं 2181 तक बिका है।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!