दृष्टि दिव्यांग के लिए स्टेशन पर ब्रेल टेक्सटाइल नेविगेशन मैप लगा

दृष्टि दिव्यांग के लिए स्टेशन पर ब्रेल टेक्सटाइल नेविगेशन मैप लगा

इटारसी। अगर कोई अब दृष्टि दिव्यांग यात्री इटारसी रेलवे स्टेशन पर आएगा और उसे ब्रेल लिपि का ज्ञान होगा तो उसे किसी की मदद की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। रेलवे स्टेशन पर दृष्टिबाधित यात्रियों को रिजर्वेशन काउंटर, प्लेटफार्म और अन्य स्थान ढूंढने के लिए ब्रेल टेक्सटाइल नेविगेशन मैप लगाया गया है।
इसकी मदद से दिव्यांग स्टेशन पर उपलब्ध सुविधाओं और उस स्थान तक पहुंचने की जानकारी हासिल कर पाएंगे। इसके पूर्व दृष्टि दिव्यांग यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर टिकट विन्डो सहित अन्य स्थानों के लिए किसी की मदद की जरूरत होती थी। कई बार मदद के अभाव में उनको परेशान होना पड़ता था। अब यदि यात्री को ब्रेल लिपि का ज्ञान है तो उसे किसी की मदद की आवश्यकता नहीं होगी।

दृष्टि दिव्यांग को बताएंगे जंक्शन के रास्ते

रेलवे स्टेशन पर ब्रेल लिपि के सहारे दृष्टि दिव्यांग यात्री भी जंक्शन पर संकेतकों से अपनी राह को आसान बनायेंगे। दृष्टि दिव्यांग यात्रियों की सुविधा के लिए रेल जंक्शन पर ब्रेल टेक्सटाइल नेविगेशन मैप लगाने के साथ ही सीढिय़ों सहित अन्य स्थानों पर संकेतक लगाए जा रहे हैं। एक एनजीओ के माध्यम से हो रहे इस कार्य के बाद अब दृष्टि दिव्यांग यात्री इन संकेतकों को छूकर समझ सकता कि संबंधित स्थान कहां पर है और उसे कैसे जाना है। देश के बड़े जंक्शनों में से एक इटारसी जंक्शन में भी दृष्टि दिव्यांग के रास्ते सुगम हो जाएंगे, उन्हें जंक्शन के किसी भी स्थान पर जाने के लिए किसी दूसरे का सहारा नहीं लेना पड़ेगा। रेल प्रशासन की अनुमति से सीएसआर द्वारा देश के अन्य बड़े महानगरों के जैसे इटारसी में भी दृष्टि दिव्यांग को सुविधा मिल रही है, दरअसल यहां पर विभिन्न स्थानों पर जंक्शन का नक्शा लगाया जा रहा है, जिसमें ब्रेल लिपि होगी, जिसके माध्यम से दृष्टि दिव्यांग यह पता कर सकता है कि जंक्शन में किसका कार्यालय कहां पर है, वैंटिंग रूम किस जगह पर है, फुट ओवर ब्रिज पर जाने के रास्ते कैसे हैं और कहां पर है, कौन सा प्लेटफार्म कहां पर है, टिकट विंडो, आरक्षण कार्यालय सहित अन्य सभी स्थानों की जानकारी उक्त नक्शे में होगी। सीढिय़ों की रेलिंग एवं सर्कुलेटिंग एरिए की रेलिंग सहित अन्य स्थानों पर संकेतक लगाए जा रहे हैं, जिसे छूकर वह समझ सकते हैं कि वह कहां पर हैं और कहां जाना है। इस संबंध में जब एनजीओ के आपरेशन मैनेजर लखविंदर सिंह ने कहा कि देश के 30 बडे जंक्शन चिन्हित किए गए हैं। इनमें एक इटारसी जंक्शन भी शामिल है, वर्तमान में 17 जंक्शनों पर मैप और संकेतक लगाए जा चुके हैं।

नई अभिनव पहल से निर्भरता घटेगी

प्लेटफार्मों के लिए ब्रेल संकेतकों की स्थापना से दृष्टि दिव्यांग यात्रियों को सही प्लेटफॉर्म और सुविधाओं को खोजने के लिए लोगों पर निर्भरता कम होगी, इससे गुमराह होने का जोखिम कम होगा। ब्रेल में सामान्य संकेत दृष्टि दिव्यांग लोगों को पुरुष और महिला शौचालय, पुरुष और महिला प्रतीक्षालय, दिव्यांग शौचालय, क्लॉक रूम जैसी आवश्यक सुविधाओं की पहचान करने में मदद मिलेगी। ब्रेल मानचित्र दृष्टि दिव्यांग यात्रियों को स्टेशन का एक सिंहावलोकन देते हैं और उन्हें उपलब्ध बुनियादी सुविधाओं के बारे में जानने में मदद करते हैं। इसमें प्लेटफार्मों, एफओबी की संख्या, लिफ्टों के बारे में जानकारी है। पोर्टेबल रैंप व्हीलचेयर का उपयोग करने वाले लोगों को गरिमा के साथ ट्रेनों में चढऩे के लिए सशक्त बनाता है, खासकर महिला यात्रियों के लिए। यह उपयोगकर्ता को व्हीलचेयर और व्यक्ति को शारीरिक रूप से उठाए बिना ट्रेन में चढऩे में सहायक होगा। सीढिय़ों पर परावर्तक पट्टियों को रोशन करने से कम दृष्टि वाले व्यक्ति को पहचानने में मदद मिलेगी। सांकेतिक भाषा के वीडियो भाषण और सुनने में अक्षम लोगों को रेलवे परिसर में मौजूद विभिन्न सुविधाओं के बारे में जानने और उनके यात्रा अनुभव को बेहतर बनाने में मदद करेंगे।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!