बस स्टैंड: जल्द खत्म हो सकता है छह वर्ष का इंतजार

बस स्टैंड: जल्द खत्म हो सकता है छह वर्ष का इंतजार

इटारसी। पिछले छह वर्ष से हो रहा नये बस स्टैंड का इंतजार जल्द खत्म हो सकता है। भूमि विकास निगम से नगर पालिका को भूमि मिलने के बाद यहां बस स्टैंड के लिए काम प्रारंभ हो गया है। यदि सब कुछ योजना के अनुसार चला तो नये वर्ष में बस स्टैंड तवा कालोनी के आगे ट्रैक्टर स्कीम में शिफ्ट हो जाएगा। अभी कुछ दिन पूर्व ही प्रशासन ने 10,500 वर्गमीटर जमीन नपा के नाम कर दी है। भूमि का आवंटन होते ही नगर पालिका ने रिक्त जमीन पर निर्माण कार्य शुरू करा दिया है।
सोमवार को विधायक प्रतिनिधि जगदीश मालवीय (MLA representative Jagdish Malviya), दीपू अग्रवाल (Deepu Agarwal) एवं नपा अधिकारियों ने प्रस्तावित जगह का निरीक्षण किया। जमीन आवंटन के लिए विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma) का प्रयास रंग लाया। कलेक्टर नीरज सिंह (Collector Neeraj Singh) एवं एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी (SDM Madan Singh Raghuvanshi) के प्रयासों से यह जमीन अब नपा को मिल गई है।

बन चुकी है दीवार
नगर पालिका ने आवंटित भूमि के इर्द-गिर्द दीवार बना दी है। विधायक प्रतिनिधि जगदीश मालवीय ने बताया कि पूरे मैदान में दलदल हुआ है, पहले मैदान समतलीकरण होगा, इसके बाद परिसर में आरसीसी फ्लोर बनाया जाएगा, इसके बाद पूरे क्षेत्र में कवर्ड टीनशेेड बनेगा, जिससे यहां बसों के आने-जाने और खड़े करने की जगह बन सके। नए साल में बस स्टेंड शिफ्ट कर शेष काम बाद में कराया जाएगा। नगर पालिका के स्वामित्व में भूमि आने के बाद दूसरे ही दिन से यहां प्रस्तावित बस स्टेंड के लिए गतिविधियां प्रारंभ हो गई हैं। प्रस्तावित स्थल ट्रैक्टर स्कीम में सफाई कार्य प्रारंभ हो गया है।

लगा मालिकाना हक का बोर्ड
नगर पालिका ने यहां भूमि के मालिकाना हक का बोर्ड भी लगा दिया है। बारिश के दौरान पूरे भूखंड पर झाडिय़ां उग आई हैं, उनको काटकर पूरे परिसर की सफाई की जाएगी और यहां शेड, शौचालय, यूनिरल और पेयजल आदि की प्राथमिक जरूरतें पूरी कर कुछ बसों का स्टापेज प्रारंभ कराया जाएगा, ताकि इस क्षेत्र के लोगों को इसका फायदा मिल सके। हालांकि यह फिलहाल अस्थायी होगा। जब बस स्टेंड का नक्शा बनेगा, और सारी प्रक्रिया पूर्ण होगी इसके बाद काम प्रारंभ किया जाएगा।

पहले थी ऐसाी योजना
साल 2015 में भूमिपूजन के बाद जमीन आवंटन समेत कई अड़चनों का सामना हुआ। डीपीआर के साथ प्रोजेक्ट के प्रस्ताव को तकनीकि स्वीकृति के लिए भेजा गया। पुरानी इटारसी में ट्रैक्टर स्कीम की करीब 6 एकड़ जमीन पर सुविधायुक्त बस स्टेंड बनेगा। पहली दफा 8 करोड़ रुपए की डीपीआर तैयार हुई, लेकिन संशोधित डीपीआर करीब 13 करोड़ 50 लाख रुपए की बनाई। मालिकाना हक कृषि विभाग के पास था, जिसे हस्तांतरित कराना मुश्किल हो गया था। योजना में यहां इटारसी शहर के पुरानी इटारसी क्षेत्र में प्रस्तावित करोड़ों रुपए के प्रस्तावित बस स्टैंड का प्रोजेक्ट कोरी घोषणा बनकर रह गया है। दो साल पहले भूमिपूजन होने के बावजूद नपा के जिम्मेदारों ने जमीन को नपा के अधिपत्य में लाने के लिए जो कवायद करना थी उसमें लापरवाही बरती। डीपीआर के साथ प्रोजेक्ट के प्रस्ताव को तकनीकि स्वीकृति के लिए जिन विभागों की स्वीकृति जरूरी थी उन्हें लेने में नपा ने उदासीनता बरती और उसी लापरवाही ने विधानसभा अध्यक्ष के ड्रीम प्रोजेक्ट को अधर में लटका दिया है।

13 करोड़ 50 लाख का प्रोजेक्ट
पुरानी इटारसी में ट्रैक्टर स्कीम की करीब 6 एकड़ जमीन पर सुविधायुक्त बस स्टेंड प्रस्तावित किया था। दो साल पहले वर्ष 2015 में बस स्टेंड प्रोजेक्ट के लिए योजना बनी। पहली बार में 8 करोड़ रुपए की डीपीआर तैयार हुई मगर बाद में उसे संशोधित करना पड़ा। संशोधित डीपीआर करीब 13 करोड़ 50 लाख रुपए की बनाकर शासन को भेजी गई थी। अब जमीन मिलने के बाद नपा ने बस स्टेंड के आखिरी छोर पर प्लेटफॉर्म बनाएगी, 50 से ज्यादा बसें खड़ी करने की सुविधा होगी। बस डिपो से दूर चार एवं दोपहिया वाहनों की पार्किंग होगी। उत्तर दिशा में बसों के लिए प्रवेश द्वार बनाया जाएगा। भविष्य में यहां पार्क समेत अन्य सुविधाएं भी देने की योजना है। लेकिन यह सारा कार्य चरणबद्ध तरीके से पूर्ण किया जाएगा।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!