ओएफ परिसर से एटीएम चोरी का प्रयास करने वाले पकड़ाए

ओएफ परिसर से एटीएम चोरी का प्रयास करने वाले पकड़ाए

बदायूं उत्तर प्रदेश से पकड़कर लायी पथरोटा पुलिस

इटारसी। ऑर्डिनेंस फैक्ट्री (Ordinance factory) के बाजार क्षेत्र में सेंट्रल बैंक (Central bank) के एटीएम को गैस कटर से काटकर चोरी का प्रयास करने के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इनके उत्तरप्रदेश के बदायूं से गिरफ्तार करके लायी है। आज पुलिस ने मामले का खुलासा किया है। मामले में 21 अक्टूबर को सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ऑर्डिनेंस फैक्ट्री (Central Bank of India Ordnance Factory) शाखा के मैनेजर पीयूष पिता शैलेन्द्र कुमार पांडेय ने शिकायत दर्ज करायी थी।

उल्लेखनीय है कि आर्डनेंस फैक्ट्री के बाजार क्षेत्र में सेंट्रल बैंक के एटीएम (ATM) को गैस कटर से चोरी का प्रयास करते वक्त आग लगने से आरोपी गैस सिलेंडर छोड़कर भागे थे। घटना में एटीएम में रखी करीब दस लाख रुपए जलकर राख हो गये थे। पुलिस ने मैनेजर की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया था।

ऐसे मिली सफलता
चोरी के प्रयास और एटीएम में आगजनी की यह घटना चुनौतीपूर्ण थी। एसपी संतोष सिंह गौर (SP Santosh Singh Gaur) के मार्गदर्शन, एसडीओपी महेन्द्र मालवीय (SDOP Mahendra Malaviya) के निर्देशन में टीम का गठन किया जिसमें थाना प्रभारी प्रज्ञा शर्मा (Station in-charge Pragya Sharma), एएसआई शिवप्रसाद तिवारी (ASI Shivprasad Tiwari), प्रधान आरक्षक अनिल ठाकुर (Head constable Anil Thakur), आरक्षक हेमंत तिवारी (Constable Hemant Tiwari), हेमंत सिंह (Hemanr singh) की दो टीमें बनायीं। टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण कर पीएसटीएन डाटा निकालकर जांच आगे बढ़ायी। संदेही की लोकेशन बदायूं उत्तरप्रदेश मिली तो टीम वहां पहुंची। लोकेशन पर नंबर इटारसी निवासी बाबू तिवारी का था। पुलिस थाना कादर चौक का फोर्स लेकर दबिश दी तो तत्काल सफलता नहीं मिली। पुलिस ने बदायूं में रुककर पुन: मोबाइल नंबर की लोकेशन ली तो यह बस स्टैंड के आसपास की मिली। पहुंचकर बाबू तिवारी एवं साथ खड़े दो अन्य लोगों एक अपचारी बालक और कमरुल को पकड़ा और पूछताछ की तो उन्होंने घटना करना स्वीकार किया।

यूपी और इटारसी के हैं आरोपी
पुलिस ने जब आरोपियों को गिरफ्तार कर इटारसी लेकर आयी और पूछताछ की तो पता चला कि गोविन्दा उर्फ आशीष पिता प्रकाश नारायण मिश्रा 30वर्ष, निवासी सियाराम कालोनी होशंगाबाद की कार से बाबू उर्फ रमाकांत पिता कमल किशोर तिवारी 30 वर्ष,निवासी मालवीयगंज इटारसी, एक अपचारी बालक निवासी बेहटा डंपर नगर थाना कादर चौक जिला बदायूं उप्र, कमरुलपिता अजीज उल्ला खान, 50 वर्ष निवासी बेहटा डंपर नगर थाना कादर चौक बदायूं उप्र, थाना पथरोटा के ग्राम पथरोटा निवासी गुड्डू उर्फ भैयालाल बोरासी पिता रामआसरे बोरासी 30 वर्ष के घर से गैस सिलेंडर एवं आक्सीजन गैस सिलेंडर एवं कटर मशीन लेकर आयुध निर्माण सेंट्रल बैंक के एटीएम जाकर गैस कटर से एटीएम में चोरी करने गये थे। गैस सिलेंडर गुड्डू ने कबाड़ी रामेश पिता हरिदास चौधरी निवासी पथरोटा से घटना के पांच दिन पूर्व मांगकर ले गया था।

जेल में मुलाकात, महाराष्ट्र में मीटिंग
आरोपी उप्र और मप्र के हैं, इनकी पुरानी जान-पहचान है। जेल में इनकी मुलाकात होना बताया जा रहा है। इस दौरान इनकी मुलाकात हुई तो उप्र वालों ने मप्र वालों से कहा था कि हमारे लायक कोई काम हो तो बताना। मप्र के आरोपियों ने फिर उनको एटीएम में इस तरह की वारदात के लिए कहा। इटारसी के आरोपियों ने पहले संबंधित एटीएम की रैकी की। इस वारदात से पूर्व इनकी महाराष्ट्र के बुलढाना में मुलाकात हुई और वही सारी योजना बनी। इसके बाद ही इस योजना पर काम किया गया और घटना को अंजाम देने के दौरान आगजनी होने से ये लोग उत्तरप्रदेश भाग गये।

संदिग्ध नंबर को ट्रेस करके मिली सफलता
मामले में जांच के लिए बनी पुलिस टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण कर पीएसटीएन डाटा निकालकर जांच आगे बढ़ायी। इस दौरान सायबर से करीब दस नंबर मिले। इसके बाद कुछ संदिग्ध नंबरों को ट्रैस किया तो एक नंबर इटारसी के बाबू उर्फ रमाकांत पिता कमल किशोर तिवारी 30 वर्ष,निवासी मालवीयगंज इटारसी का मिला। इसकी लोकेशन निकाली तो यह भी उत्तर प्रदेश में मिली। पुलिस ने इसी लाइन पर काम करके जांच को आगे बढ़ाया और आरोपियों की तलाश में टीम उत्तरप्रदेश भेजी गयी और फिर उप्र के बदायूं में पुलिस को रुकने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी में सफलता मिली।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: