चुनाव संदर्भ: डबल इंजन की शक्ति…

चुनाव संदर्भ: डबल इंजन की शक्ति…

– राजधानी से पंकज पटेरिया :
हमारे नर्मदांचल निवासी और पुण्य सलिला मां नर्मदा जी के वरद पुत्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्ट्रीम इंजिन दौर में डबल इंजिन की शक्ति को अनुभव किया है। कुछ वक्त पहले इटारसी होशंगाबाद से भोपाल की ओर जाने वाली रेलगाड़ियों में होशंगाबाद अथवा बुधनी से गाड़ी पर एक और इंजिन लगता था ताकि रेलगाड़ी बुधनी बरखेड़ा मिसघाट की पहाड़ी चढ़ सके। मुझे भी चार दशक पहले के वे तजुर्बे हैं हम भी नर्मदा अंचल से भोपाल आया करते थे।
बहरराल अभी चुनावी माहौल में सीएम ने इतना सटीक उदाहरण देकर सीधे-सीधे एक महत्वपूर्ण बात जनसाधारण मतदाताओं के दिलों दिमाग में उतार दी कि डबल इंजन में कितनी ताकत होती है। यह विशेषता है कि वे बहुत आत्मीय और बोलचाल शैली में लोगों से मुखातिब होते हैं इन दिनों जारी चुनाव के माहौल में प्रदेश भर में दौरा करते की यही बात करते हैं कि केंद्र में मोदी जी की सरकार है और प्रदेश में आपके मामा की सरकार है, लिहाजा आप यदि भाजापा के पक्ष में मतदान करके नगर पालिका, नगर पंचायत, नगर निगम बनाते हैं तो डबल इंजन की ताकत का लाभ विकास की रेलगाड़ी चलने में मिलेगा।
उधर चुनावी सभा करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ आरोप-प्रत्यारोप की बारिश करते हुए यह कहते हैं शिवराज जी के पास दूरदर्शन है पर कोई विज़न नहीं है। कुल जमा बनती समरस पंचायत आदि बेहतरीन प्रेरक वातावरण चुनाव समर में निर्मित कर रही हैं।
मुख्यमंत्री निवास पर ६९० ग्राम पंचायतों के निर्विरोध जीते सरपंच पंच व प्रतिनिधियों का सम्मान किया। पंचायतों को बढ़िया ढंग से काम करने की जरूरी समझाइश भी दी और यह अपेक्षा की कि वे ऐसा काम करें कि पूरे देश में एक मिसाल बने।
आज का वोटर बहुत समझदार है। वह अपने चश्मे से सारी चीजें देखता है और अपने दिलो दिमाग से निर्णय करता है। देखिए समय की दीवार पर कौन सी तस्वीर आगे चलकर उत्कीर्ण होती है। आपके साथ हमें भी इंतजार है।
नर्मदे हर


पंकज पटेरिया
वरिष्ठ पत्रकार साहित्यकार
ज्योतिष सलाहकार, भोपाल
9340244352 ,9407505651

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!