Breaking: मजदूर की मौत के मामले में कांग्रेस नेता के भाई की भूमिका होने का संदेह

Breaking: मजदूर की मौत के मामले में कांग्रेस नेता के भाई की भूमिका होने का संदेह

घटनास्थल पर पहुंची सीआईडी (CID) की टीम

विधायक (MLA, HOSHANGABAD) ने की थी निष्पक्ष जांच की मांग

इटारसी। करीब सात वर्ष पूर्व नजरपुर मुरम खदान (Nazarpur Muram Mine) में मजदूर रामविलास पुत्र सुंदरलाल तिवारी की संदिग्ध मौत की जांच सीआईडी (CID) ने शुरु कर दी है। आज भोपाल से आये सीआईडी के विशेष जांच दल ने घटना स्थल का दौरा किया और घटना से जुड़े लोगों के बयान भी लिये हैं। टीम ने जीआरपी से भी मामले की फाइल मांगी है। दरअसल मजदूरी की लाश रेलवे ट्रैक पर मिली थी।

उल्लेखनीय है कि इस हाईप्रोफाइल मामले (High profile cases) में विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma) ने शिकायत कर संदिग्ध मौत पर जांच के लिए पत्र लिखा था। विधायक डॉ. शर्मा का आरोप है कि प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता केलू उपाध्याय (State Congress spokesperson Kelu Upadhyay) के भाई अमोल उपाध्याय (Amol Upadhyay) समेत कुछ अन्य लोगों की इस प्रकरण में भूमिका संदिग्ध है। सीआईडी (CID) के हाथ केस आने के बाद अब इस मामले में परत-दर परत सभी बिंदुओं पर जांच होगी। आज दिन भर यह मामला सोशल मीडिया पर छाया रहा।

मामला एक नजर में
करीब सात वर्ष पूर्व 11 जून 2013 को नारायण दास खेड़ा सबूचा उन्नाव उप्र निवासी 65 वर्षीय रामविलास की लाश कीरतगढ़ रेलवे स्टेशन (Kiratgarh Railway Station) के पास रेलवे ट्रेक पर मिली थी। जीआरपी ने प्रकरण दर्ज कर शव का पीएम कराया था। मृतक के भांजे सुनील तिवारी (Sunil Tiwari) ने हत्या का संदेह जताते हुए मामले की शिकायत कर पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़े किए लेकिन जांच ठंडे बस्ते में पड़ी रही। मृतक के भांजे को ऐसी आशंका है कि तिवारी की मौत खदान पर डंपर से कुचलकर हुई थी, जिसके बाद लाश को कुछ लोगों ने रेलवे ट्रैक पर रखकर जांच की दिशा पलटने और सबूत मिटाने का प्रयास किया। मृतक तिवारी कई साल पहले इटारसी आया था। खदान संचालक डब्बू भारद्वाज (Mine operator Dubbu bhardwaj) का काम संभालता था।

इनका कहना है…!

मुुरम के अवैध कारोबार से जुड़े लोगों की इस कांड में भूमिका है। संदिग्ध मौत में निष्पक्ष जांच के लिए पूर्व में वरिष्ठ अधिकारियों से बात कर सीआईडी जांच को कहा था। पूरा मामला संदिग्ध है, हत्या के साक्ष्य छिपाकर इसे हादसा बताने का प्रयास हुआ था। अब सीआईडी जांच से मौत के सही कारण सामने आएंगे और इस कांड में शामिल लोगों को सजा मिलेगी।
डॉ. सीतासरन शर्मा विधायक (Dr. Sitasaran Sharma, MLA Hoshangabad) 

कीरतगढ़ के पास रेलवे ट्रैक पर जिस मजदूर का शव मिला था। उसकी जांच सीआईडी ने ली है। टीम ने घटनास्थल का जायजा लिया है, कुछ लोगों के बयान भी दर्ज किए हैं। प्रकरण की जांच सीआईडी ही करेगी। हमने सभी दस्तावेज उपलब्ध करा दिए हैं।
बीएस चौहान टीआई जीआरपी (BS Chouhan,Thana Prabhari GRP)

मामले में राजनैतिक दबाव में मेरे परिवार का नाम घसीटा जा रहा है। पूर्व में भी इस मामले की जांच हो चुकी है। विधानसभा में भी प्रश्न लगाया था। पहले भी तीन बार झूठी शिकायत हो चुकी है। यह राजनैतिक द्वेषवश परेशान करने का प्रयास है।
अमोल उपाध्याय कांग्रेस नेता (Amol Upadhyay, Congress neta) 

परिजनों ने पूर्व में शिकायत की थी लेकिन इसकी जांच नहीं हो सकी। अब सीआईडी जांच होगी। मुझे बयान देने बुलाया गया था। परिजनों ने उनकी गैरमौजूदगी में लाश बरामद कर पोस्टमार्टम कराने के आरोप लगाए हैं।
राकेश जाधव पूर्व पार्षद (Rakesh Jadhav)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: