Shri Lakshmi ji pooja

दीपावली पर एक ही राशि में चार ग्रह होने से बन रहा शुभ योग

होशंगाबाद। दिवाली (Diwali) पर माता लक्ष्मी और भगवान श्री गणेश जी का पूजन बड़े ही विधि विधान से किया जाता है। दीपावली को प्रकाश उत्सव भी कहा जाता है। दीपावली पर घरों को रोशनी से सजाया जाता है। दीपावली की शाम को शुभ मुहूर्त में माता लक्ष्मी, भगवान गणेश, मां सरस्वती और धन के देवता कुबेर की पूजा-आराधना होती है। दीपावली पर लोग सुख-समृ्द्धि और भौतिक सुखों की प्राप्ति के लिए माता लक्ष्मी की विशेष पूजा करते हैं। ज्योतिष शास्त्र में इसे स्वयं सिद्ध मुहूर्त भी कहा गया है। यानी इस दिन किए गए उपाय, दान व पूजा आदि कामों से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। लक्ष्मी पूजन के लिए इस साल चार ग्रहों के एक ही राशि में होने से शुभ योग बन रहा है।

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या की तिथि
ज्योतिष पंडित शुभम शास्त्री के अनुसार 04 नवंबर 2021 गुरुवार को कार्तिक मास (Kartik maas) की कृष्ण पक्ष की अमावस्या की तिथि है। इस दिन धन की देवी माता श्री लक्ष्मी जी (Shri Lakshmi ji pooja) की विशेष पूजा अर्चना की जाती है. इस वर्ष दीपावली का पावन पर्व 4 नवंबर दिन गुरुवार को है पंडित शुभम शास्त्री के अनुसार इस वर्ष दीपावली पर सूर्य चंद्र मंगल और बुध चार ग्रहों की युति बन रही है। लक्ष्मी पूजन के लिए इस साल चार ग्रहों के एक ही राशि में होने से शुभ योग बन रहा है. ज्योतिष के अनुसार इस शुभ योग में पूजन होने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा रहेगी।

देवी लक्ष्मी की विशेष पूजा अर्चना
पंडित शुभम शास्त्री (दुबे) ने बताया कि इस दिन धन की देवी लक्ष्मी की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। वही चारों ग्रह सूर्य चंद्र मंगल और बुध तुला राशि में उपस्थित रहेंगे। तुला राशि के स्वामी शुक्र हैं। लक्ष्मी जी की पूजा से शुक्र ग्रह की शुभता में वृद्धि होती है. ज्योतिष शास्त्र में शुक्र को सुंदर, सुख-सुविधाओं आदि का कारक माना गया है। वहीं सूर्य को ग्रहों का राजा, मंगल को ग्रहों का सेनापति और बुध को ग्रहों का राजकुमार कहा गया है. इसके साथ ही चंद्रमा को मन का कारक माना गया है। वहीं सूर्य को आत्मा का कारक ग्रह एवं पिता तो चंद्रमा को माता और मन का भी कारक माना गया है।

दिवाली का शुभ मुहूर्त

चौघडिय़ां मुहूर्त
सुबह 06:27 से 07:51 तक- शुभ
दोपहर 12:03से 01:27 तक- लाभ
01:27 से 02:51 तक- अमृत
शाम 04:14 से 05:38 तक- लाभ

विशेष शुभ मुहूर्त
सुबह 11:40से 12:25 तक- अभिजीत मुहूर्त
शाम 05:38से रात 07:15 तक- प्रदोष काल मुहूर्त
अर्धरात्रि 12:41से 02:34 तक- निशिथ काल

स्थिर लग्न मुहूर्त
सुबह 07.22 से 09.38 तक- वृश्चिक लग्न
दोपहर 01:30 से 03:04 तक- कुंभ लग्न
शाम 06:14 से रात 08:12 तक- वृषभ लग्न
अर्धरात्रि 12:41 से 02:43 तक- सिंह लग्न

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!