अपडाउनर्स के लिए पूर्व की तरह ट्रेनों में एमएसटी सुविधा देने की मांग

अपडाउनर्स के लिए पूर्व की तरह ट्रेनों में एमएसटी सुविधा देने की मांग

– जेडआरयूसीसी मेंबर (ZRUCC Member) ने जीएम (GM) और डीआरएम (DRM) को लिखा पत्र
इटारसी। रेलवे (Railway) ने पिछले दिनों कुछ ट्रेनों में एमएसटी (MST) की सुविधा फिर से चालू करने का निर्णय लिया है, मगर जिन ट्रेनों में एमएसटी की सुविधा शुरू की गई है उनमें से अधिकांश ट्रेनें 17 घंटे में इटारसी-होशंगाबाद (Itarsi-Hoshangabad) आती हैं। ऐसे में होशंगाबाद जिले के 20 हजार से ज्यादा अपडाउनर्स की परेशानी हल नहीं हुई है। अपडाउनर्स (Updowners) को हो रही समस्या को देखते हुए जोनल रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति (Zonal Rail User Advisory Committee) सदस्य राजा तिवारी (Raja Tiwari) ने जबलपुर जोन (Jabalpur Zone) के महाप्रबंधक और डीआरएम को पत्र लिखकर उन सभी ट्रेनों में एमएसटी चालू करने की मांग की है जिनमें लॉकडाउन (Lockdown) के पहले जारी किए जाते रहे हैं। जेडआरयूसीसी मेंबर राजा तिवारी ने कहा कि इटारसी भारतीय रेलवे का एक बड़ा जंक्शन (Junction) है। यहां से 20 हजार से ज्यादा लोग भोपाल (Bhopal), खंडवा (Khandwa) सहित आसपास के बड़े शहरों में अपडाउन करते हैं। बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं भी शिक्षा हासिल करने भोपाल जाते हैं। कोरोना के कारण रेलवे ने लंबे समय से एमएसटी की सुविधा बंद रखी थी। रेलवे ने पिछले दिनों कुछ ट्रेनों में एमएसटी की सुविधा फिर से चालू करने का निर्णय लिया है, मगर इसमें एक विसंगति है जिससे होशंगाबाद जिले के हजारों अपडाउनर्स को उसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। रेलवे द्वारा अभी उस ट्रेन में अपडाउनर्स को एमएसटी की सुविधा दी गई है जो भोपाल से इटारसी 17 घंटे में पहुंचती है। जिन अन्य ट्रेनों में एमएसटी की अनुमति दी गई है वे साप्ताहिक और सुपर फास्ट (Super Fast) श्रेणी की हैं।
भोपाल रेल मंडल ने अब तक 24 ट्रेनों में मासिक सीजन टिकट (एमएसटी), त्रैमासिक सीजन टिकट आदि पर यात्रा करने की अनुमति अपडाउनर्स को दे दी है। इनमें से 22 ट्रेनें तो बीना तरफ आवागमन करती हैं। इटारसी-होशंगाबाद-हरदा से भोपाल आवागमन करने वाले अपडाउनर्स का कहना है कि लोगों को ऐसी ट्रेन में यात्रा करने की सुविधा एमएसटी पर दी जा रही है जो करीब 17 घंटे में लंबे रूट से इटारसी तक पहुंचती हैं जो उनके काम की नहीं हैं। उन हजारों अपडाउनर्स की समस्या को देखते हुए भोपाल से होशंगाबाद-इटारसी तरफ आवागमन के लिए कामायनी (Kamayani), सोमनाथ (Somnath), चेन्नई-जयपुर एक्सप्रेस (Chennai-Jaipur Express) ट्रेन सहित अन्य ट्रेनों में एमएसटी की सुविधा शुरू की जाना चाहिए।


TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!