सोसाइटी फॉर प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स के जिला सम्मेलन में बनी रणनीति

सोसाइटी फॉर प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स के जिला सम्मेलन में बनी रणनीति

समस्याओं से परेशान स्कूल संचालक लड़ेंगे अस्तित्व की लड़ाई

इटारसी। सोसाइटी फॉर प्राइवेट स्कूल डायरेक्टर्स (Society for Private School Directors) का जिला सम्मेलन वर्धमान स्कूल परिसर में हुआ। सम्मेलन में स्कूलों को वर्तमान में आ रही समस्याओं पर चर्चा की गई। सोपास (Sopas) ने तय किया है कि अभिभावकों के निरंतर असहयोग और अपने अस्तित्व को बचाने अब निर्णायक लड़ाई लड़ी जाये। लगभग 15 ब्लॉक के सदस्यों ने एक साथ सैंकड़ों की संख्या में उपस्थित होकर अस्तित्व की पुकार, आंदोलन को समर्थन दिया और भविष्य में प्रदेश भर में आंदोलन की संभावनाओं पर विचार किया।

इन मुद्दों पर की गई चर्चा
विगत आठ माह से अभिभावकों द्वारा शिक्षण शुल्क जमा नहीं करने, और आरटीई का 18-19,19-20 का पैसा न मिलने से परेशान स्कूल संचालकों ने अब शासन-प्रशासन से स्कूल फीस न देने पर टीसी (TC) देने की अनुमति मांगी है ताकि विधिवत सिर्फ प्रवेशितों का शिक्षण कराया जा सके और गुहारपूर्ण न होने पर न्यायालय की शरण में जाने तक का मन बना लिया है। ऑनलाइन कक्षाओं (Online Classes) को जारी रखने के बाद भी अभिभावक फीस जमा करने में जानबूझकर विलंब कर रहे हैं। अत: संचालकों ने नहीं होंगे प्रवेशित तो नहीं होगी परीक्षा, ना ही किया जायेगा कक्षा प्रमोशन का मन बना लिया है। सभी स्कूलों को निर्देशित किया है कि फीस न देने पर न टीसी देने और प्रवेश भी नहीं देने का मन बना लिया है। कार्यक्रम में प्रदेश कोर कमेटी के सदस्य प्रशांत जैन (Prashant Jain) ने स्वागत उद्बोधन दिया। प्रदेश संगठन मंत्री रविशंकर राजपूत (State Organization Minister Ravi Shankar Rajput) ने रूपरेखा और उद्देश्य बताये। स्कूल प्रबंधन विषय पर प्रशांत जैन, आरटीई अधिनियम पर शिवदयाल चौधरी, स्कूल मान्यता विषय पर प्रवीण पणीकर, स्कूल की वर्तमान समस्या पर विनय यादव और अस्तित्व की पुकार आंदोलन विषय पर सोपास प्रदेश अध्यक्ष आशीष चटर्जी (Sopas state president Ashish Chatterjee) ने अपनी बात रखी।

जिला स्तरीय सम्मेलन में मुख्य अतिथि विधायक डॉ सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma), संयुक्त संचालक एसके त्रिपाठी (Joint Director SK Tripathi) व जिला शिक्षा अधिकारी रवि बघेल (District Education Officer Ravi Baghel) आमंत्रित थे। संयुक्त संचालक एसके त्रिपाठी व जिला शिक्षा अधिकारी रवि बघेल ने यथासंभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। विधायक डॉ सीतासरन शर्मा ने स्कूल संचालकों का समर्थन करते हुये अधिकारियों से समर्थन देने का निर्देश दिया ताकि स्कूल संचालक किसी अनहोनी का शिकार न हों। अधिकारियों से मंच से पूछा कि अग्रवाल पब्लिक स्कूल की एक ही विषय पर 10-10 बार जांच कहां तक न्यायोचित है, बल्कि स्कूलों के साथ किये जा रहे दुव्र्यवहार पर रोष जताते हुये यहां तक कहा कि क्या स्कूल संचालक कोई शराब की दुकान चला रहे हैं, जो इनसे इस तरह का व्यवहार किया जा रहा है। संचालन सोपास प्रदेश कार्यालय मंत्री आलोक गिरोटिया और आभार इटारसी ब्लॉक के सचिव अजय चौकसे ने किया।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!