एमजीएम में एक दिनी राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन

एमजीएम में एक दिनी राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन

इटारसी। शासकीय महात्मा गांधी स्मृति स्नातकोत्तर महाविद्यालय (Government Mahatma Gandhi Memorial Postgraduate College) में संस्कृत विभाग द्वारा संस्कृत वाङ्गमय में निहित मानवीय मूल्यों पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार (National Seminar) का आयोजन किया।कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य प्रो. प्रमोद कुमार पगारे (Principal Prof. Pramod Kumar Pagare) ने की। उन्होंने संस्कृत भाषा की सरलता तथा उसे जनमानस तक पहुंचाने की प्रेरणा दी, साथ ही मानव के प्राकृतिक तथा आध्यात्मिक मूल्यों पर चर्चा की। मुख्य अतिथि डॉ. नौनिहाल गौतम (Dr. Naunihal Gautam), सहायक आचार्य सागर विश्वविद्यालय तथा डॉ मनमोहन शर्मा (Dr. Manmohan Sharma) संस्कृत संवर्धन प्रतिष्ठान नई दिल्ली रहे। डॉ नौनिहाल गौतम ने अपने व्याख्यान में संपूर्ण संस्कृत वाङ्गमय, ब्राह्मण, उपनिषद्, दर्शन, काव्य तथा काव्यशास्त्र सभी के उदाहरणों को समाहित करते हुए मानवीय मूल्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने विश्वानि देव सवितर्दुरितानि, धृति: क्षमा दमोस्तेयम्, के द्वारा धर्म आत्मन: प्रतिकूलानि परेषां न समाचरेत् के द्वारा मानव के लिए आचरणीय व्यवहार तथा मूल्यों को बताया।
द्वितीय वक्ता डॉ मनमोहन शर्मा ने मानवीय मूल्यों में धर्म, नीति, न्याय, सत्य, अहिंसा को श्रीमद् भगवद्गीता, रामायण, महाभारत के उदाहरणों द्वारा बताया तथा वसुधैव कुटुम्बकम्, सर्वे भवन्तु सुखिन:, का संदेश प्रदान किया। संचालन संस्कृत विभाग की विभागाध्यक्ष श्रीमती श्रुति अग्रवाल ने किया। कार्यक्रम में वल्र्ड बैंक प्रभारी डॉ अरविंद शर्मा ने आभार प्रदर्शन किया। प्रोफेसर ओपी शर्मा तथा डॉ अर्चना शर्मा सहित समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!