भारतीय लोकतंत्र के काले दिवस के रूप में मनाया आपातकाल दिवस

भारतीय लोकतंत्र के काले दिवस के रूप में मनाया आपातकाल दिवस

  • संगोष्ठी का आयोजन एवं मीसाबंदियों का सम्मान किया

नर्मदापुरम। 25 जून 1975 को कांग्रेस (Congress) शासन द्वारा लगाई इमरजेंसी (Emergency) के 49 वर्ष पूर्ण होने पर काला दिवस के रूप में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) जिला नर्मदापुरम (District Narmadapuram) ने एक संगोष्ठी की। संगोष्ठी को भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश महामंत्री विनोद गोटिया (Vinod Gotiya) एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma) ने संबोधित किया।

श्री गोटिया ने कहा कि किस प्रकार से संविधान का गला घोंटकर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Prime Minister Indira Gandhi) ने नागरिकों की स्वतंत्रता एवं अभिव्यक्ति के अधिकार का हनन कर देश के शीर्ष सम्माननीय नेताओं पर अत्याचार किया। जब-जब केन्द्र में कांग्रेस की सरकार रही उनके द्वारा जन आंदोलनों को कुचलने सत्ता का दुरुपयोग किया। उन्होंने पश्चिम बंगाल का उदाहरण देते हुए बताया कि आज भी जिन-जिन राज्यों में कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के सदस्य दलों की सरकारें हैं वहां पर कानून को दरकिनार करते हुए जनता पर अनाचार और अत्याचार जारी है।

विधायक सीतासरन शर्मा ने आपातकाल के दौरान किये अत्याचारों के घटनाक्रमों और संविधान की हत्या किस प्रकार से की गई, न्याय पालिका का किस प्रकार से अपमान किया इसका उल्लेख करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता जिस संविधान की पुस्तक को लहरा रहे हैं, उनकी ही पार्टी जब बहुमत में रही है तब उन्होंने इस संविधान के साथ खिलवाड़ और उसका अपमान किया है। प्रस्तावना रखते हुए विधि प्रकोष्ठ के अजय श्रीवास्तव (Ajay Srivastava) ने देश में लगाए आपातकाल की अंसवैधानिकता से संबंधित कानूनी पहलू को प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम में पार्टी जिलाध्यक्ष माधवदास अग्रवाल, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजो मालवीय, हिमाचल से आये संजीव भारद्वाज, नपाध्यक्ष नीतू यादव, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अर्चना पुरोहित, भाजयुमो जिलाध्यक्ष दीपक महालहा, वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण खंडेलवाल, लोकतंत्र सैनानी शंभू सोनकिया एवं रामाआसरे वाजपेयी उपस्थित रहे। संचालन अनिल बुन्देला एवं आभार जिला महामंत्री प्रसन्ना हर्णे ने किया। मीसाबंदियों के संस्मरण रामाआसरे वाजपेयी एवं एकनाथ हर्णे ने सुनाए। मीसाबंदियों का शाल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया।

इनका सम्मान

इस अवसर पर मीसाबंदियों के परिजन लोकतंत्र प्रहरी प्रशांत हर्णे, प्रसन्ना हर्णे, नीरज बरगले, श्रीमती राजकुमारी अशोक रावत, दीपक हरिनारायण अग्रवाल, श्याम नर्मदा प्रसाद सोनी, अभिनव अनिल शर्मा, एकनाथ हर्णे, देवरथ प्रेमसिंह ठाकुर का भी सम्मान किया। इस अवसर पर जिला महामंत्री मुकेश चंद्र मैना, पीयूष शर्मा, हंस राय, लोकेश तिवारी, व्हीपी श्रोती, प्रशांत दीक्षित, सागर शिवहरे, रोहित गौर, प्रशांत पालीवाल, पूनम मेषकर, श्रीमती वंदना दुबे, अभय वर्मा सहित नगर पालिका के पार्षद, चिकित्सक, अधिवक्ता एवं पत्रकार उपस्थित रहे।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!