National Sports Day: खेल मानसिक और शारीरिक वृद्धि को प्रोत्साहित करता है

National Sports Day: खेल मानसिक और शारीरिक वृद्धि को प्रोत्साहित करता है

खिलाड़ियों ने आयोजित की ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता

इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी की छात्राओं द्वारा राष्ट्रीय खेल दिवस पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन ऑनलाइन किया गई। प्रचार्य डॉ आर एस मेहरा ने बताया कि भारत में खेल दिवस का बहुत महत्व है। यह एक पर्व है, इस पर्व को मनाने के पीछे मुख्य उदेश्य यह है कि इस पर्व की मदद से पूरे भारत में पढ़ाई के साथ-साथ खेल शिक्षा के महत्व के बारे में बच्चो को जागरूक करना है। क्योकि इसी दिन भारत के महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद का जन्मदिवस होता है। वह एक ऐसे खिलाड़ी थे कि वे किसी भी कोण का निशाना बनाकर गोल कर सकते थे। उनकी इसी योग्यता को देखते हुए उन्हें विश्व भर में हॉकी का जादूगर भी कहते थे। इनकी कप्तानी में भारत ने कई स्वर्ण पदक हासिल किए। उन्होंने अपने खेल से भारत का नाम बहुत ऊँचा किया एवं उन्हें याद रखने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 29 अगस्त को उनके जन्मदिवस के उपलक्ष्य में धूमधाम से राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। प्रतियोगिता मे प्रथम रूपाली चैहान, द्वितीय सुरभि मालवीय, तृतीय स्थान पूजा चैहान, कुण् सोनाली पटैल ने प्राप्त किया।

स्पोर्टस और खेल का अर्थ मानसिक और शारीरिक वृद्धि


डॉ. मुकेश चंद्र विस्ट, क्रीड़ाधिकारी ने बताया की नियमित रुप से स्पोर्ट्स और खेल खेलने का अर्थ मानसिक और शारीरिक वृद्धि को प्रोत्साहित करना है। यह हमें शारीरिक और मानसिक सन्तुलन को बनाए रखना सिखाता है क्योंकि यह हमारे एकाग्रता स्तर और स्मरण शक्ति को सुधारता है। यह किसी भी कठिन परिस्थिति का सामना करने के लिए जीवन को भी शान्तिपूर्ण बनाता है। यह मित्रता की भावना को विकसित करता है और दो लोगों के बीच के सभी मतभेदों को हटाता है। यह शरीर को आकार में रखता है। जो हमें मजबूत और सक्रिय बनाता है हालांकि यह मस्तिष्क को शान्तिपूर्ण रखता है। जो सकारात्मक विचारों को लाता है और हमें बहुत सी बीमारियों और विकारों से दूर रखता है।

खेल ऊर्जा और मजबूती प्रदान करता है


डॉ. संजय आर्य ने बताया कि खेल हमें बहुत ऊर्जा और मजबूती प्रदान करने के साथ ही पूरे शरीर में रक्त संचरण में सुधार करके सभी तरह की थकान और सुस्ती को सुधारता है और शारीरिक और मानसिक अच्छाई को बढ़ावा देता है। यह एक व्यक्ति की कुशलता कार्य क्षमता को सुधारता है और मानसिक और शारीरिक रुप से थकान होने से बचाव करता है। यह छात्रों के बीच शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने का अभिन्न हिस्सा है। खेल और शिक्षा दोनों हीए एक साथ जीवन में सफलता प्राप्त करने के सबसे अच्छे तरीके हैं।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: