अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला में देश विदेश के विशेषज्ञों ने किये शोध व्यक्त

अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला में देश विदेश के विशेषज्ञों ने किये शोध व्यक्त

इटारसी। शासकीय महात्मा गांधी महाविद्यालय (MGM College Itarsi) में गणित विभाग के तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला के द्वितीय दिवस में कार्यशाला का आरंभ डॉ. अर्चना शर्मा एवं डॉ. अरविंद शर्मा ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यशाला का प्रारंभ टर्की के प्रोफेसर हांसी मस्कुलस के व्याख्यान के साथ हुआ उन्होंने अपने व्याख्यान में कोविड-19 मॉडलिंग और उसके एनालिटिकल सॉल्यूशन के विषय में विस्तार से चर्चा की इनके उपरांत विश्व प्रसिद्ध गणितज्ञ प्रोफ़ेसर दुमितरु बलेअनु ने अपने व्याख्यान में डेंगू फीवर मॉडल के बारे में अपने शोध कार्य का विश्लेषण किया। इनके पश्चात गाज़ीपुर पीजी कॉलेज उत्तर प्रदेश के प्रोफेसर डॉ. हरेंद्र सिंह ने शोध प्रविधि के विविध आयामों पर गहन विश्लेषण किया। कार्यशाला के अंतिम वक्ता के रूप में सऊदी अरबिया के प्रोफेसर डॉ. इलियास खान ने भिन्नआत्मक अवकल समीकरण को न्यूमेरिकल विधि से हल करने का तरीका सुझाया। अध्यक्ष उद्बोधन में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राकेश मेहता (Principal Rakesh Mehta) ने शोधार्थियों को सुझाव दिया कि वह अपने शोध पत्रों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के एशियाई अनुक्रम इधर जनरल में प्रकाशित करने का प्रयास करें महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. पीके पगारे (Dr. PK Pagare) ने कार्यशाला के आयोजक डॉ. प्रशांत पांडे एवं डॉ सचिन कुमार को सफल आयोजन होने पर बधाई ज्ञापित की कार्यशाला के समापन पर हिंदी विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. संतोष कुमार अहिरवार ने कार्यशाला में जुड़े देश विदेश के वक्ताओं शोधार्थियों एवं प्रतिभागियों एवं छात्र छात्राओं का आभार ज्ञापित किया। इसमें देश-विदेश से 1706 प्राध्यापक शोधार्थियों एवं छात्र छात्राओं ने पंजीयन के माध्यम से अपनी प्रतिभागिता दी। प्रथम तकनीकी सत्र में सर्वोत्तम शोध आलेख का पुरस्कार मुंबई विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. विवेक मिश्रा को मिला, द्वितीय तकनीकी सत्र में सर्वोत्तम शोध आलेख का पुरस्कार गाजीपुर उत्तर प्रदेश महाविद्यालय के डॉ. हरेंद्र सिंह को मिला।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW