कब हैं फादर्स डे 2022? कैसे हुई इस दिन को मनाने की शुरुआत जानें…
कब है फादर्स डे? किसने मनाया पहली बार फादर्स डे, जानें कैसे और क्यों हुई इस दिन को मनाने की शुरुआत सम्‍पूर्ण जानकारी Full Details in Hindi...

कब हैं फादर्स डे 2022? कैसे हुई इस दिन को मनाने की शुरुआत जानें…

कब है फादर्स डे ? किसने मनाया पहली बार फादर्स डे, जानें कैसे और क्यों हुई इस दिन को मनाने की शुरुआत सम्‍पूर्ण जानकारी…

फादर्स डे (Father’s Day)

फादर्स डे

दुनिया में मां और बच्चे का रिश्ता सबसे बड़ा होता हैं। मां बच्चे को जन्म देती हैं। उसे बड़ा करती हैं। और  पिता बच्चे को समाज की हर बुराई से बचाता हैं। पिता बच्चों की जरूरतों को पूरा करने के लिए दिन रात संघर्ष करता हैं।और बच्‍चों के  भविष्य को संवारने के लिए दिशा निर्देशन करते हैं।

बच्चे के जीवन में पिता का रोल मां जितना ही हैं। पिता त्याग और समर्पण का उदाहरण हैं। बच्चों को सही मार्ग दिखाने के लिए पिता को कठोर बनना पड़ता हैं। पिता अक्सर बच्चे के प्रति उस तरह का प्यार जता नहीं पाते जैसे माँ जताती हैं। लेकिन बिना दिखाए या जताए जीवन भर की खुशियां बच्चे को देने का काम एक पिता ही कर सकता हैं।

पिता के इसी प्रेम, त्याग को सम्मान देने के लिए दुनिया के तमाम देशों में फादर्स डे मनाया जाता हैं।

फादर्स डे कब है? (When is Father’s Day)

फादर्स डे

फादर्स डे प्रतिवर्ष जून के तीसरे रविवार को दुनिया भर मे सभी पिता को सम्मान देने के लिए हर साल मनाया जाता हैं। इस साल 19 जून 2022 को फादर्स डे मनाया जाएगा।

किसने मनाया पहली बार फादर्स डे? (Who celebrated Father’s Day for the first time)

16 साल की सोनोरा और उनके पांच छोटे भाई बहन को छोड़कर जब मांं इस दुनिया से चली गई। तो पिता ने ही उन सबकी परिवरिश मां से भी बढकर की। वह सब किया जो एक माँ करती है। सोनोरा के मन में ख्याल आया कि जब माँ के सम्‍मान के लिये मदर्स डे मनाया जा सकता हैं। तो फिर पिता के प्रेम और स्नेह के सम्मान में फादर्स डे भी मनाया जा सकता हैं।

कब और कहां मनाया गया पहला फादर्स डे? (When and where was the first Father’s Day celebrated) 

फादर्स डे

फादर्स डे मनाने की शुरुआत 19 जून 1910 से हुई थी। वाशिंगटन के स्पोकेन शहर में पहली बार फादर्स डे मनाया गया था। पिता को सम्मान देने के लिए इस दिन की शुरुआत सोनोरा नाम की बेटी ने की। वाशिंगटन में रहने वाली इस बेटी के लिए उनके पिता माँ से भी बढ़कर थे। फादर्स डे को मनाने के पीछे एक बेटी और पिता के प्यार की रोचक कहानी हैं।

फादर्स डे जून मे मनाने का कारण (Reasons to celebrate Father’s Day in June)

फादर्स डे

सोनोरा के पिता का जन्मदिन जून में होता था। इसलिए उन्होंने जून में फादर्स डे मनाने का निर्णय लिया। फादर्स डे मनाने के लिए अपनी याचिका को सफल कराने के लिए उन्होंने यूएस तक में कैंप लगाए। और  फादर्स डे बनाने की मांग की। और उनकी मांग पूरी हुई आज देश भर में फादर्स डे मानया जाता हैं।

फादर्स डे पर आधिकारिक घोषणा (Father’s Day Official Announcement)

फादर्स डे

शुरूबात मे इस दिन को मदर्स डे की तरह सीरियस नहीं लिया गया था। और इसका मजाक बनाया गया था। फादर्स डे को अधिकारी छुट्टी बनाने में कई वर्षों का समय लग गया। सन् 1916 में अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने फादर्स डे मनाने के प्रस्ताव को स्वीकार किया।

सन् 1924 में राष्ट्रपति कैल्विन कूलिज ने फादर्स डे को राष्ट्रीय आयोजन घोषित कर दिया। उसके बाद 1966 में राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने फादर्स डे को जून के तीसरे रविवार को मनाने का सम्‍पूर्ण देश मे ऐलान किया। सन् 1972 में राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने इस दिन अवकाश की घोषणा की हैं।

फादर्स डे का महत्व (Importance of Father’s Day)

फादर्स डे

  • फादर्स डे पर सभी बच्चें अपने पिता को प्यार और सम्मान देने तथा उन्हें धन्यवाद देने के लिये मनाया जाता हैं।
  • यह दिन समाज में पिताओं के प्रयासों और योगदान की याद दिलाता हैं।
  • फादर्स डे दुनिया के हर पिता का अपने बच्चे के लिए दिया गया बलिदान, त्याग, कड़ी मेहनत और जिम्मेदारी को दर्शाने का प्रतीक हैं।

कैसे मनाया जाता हैं फादर्स डे? (How Fathers Day is Celebrated)

फादर्स डे

  • अंतर्राष्ट्रीय पिता दिवस मनाए जाने के दौरान बच्चों द्वारा अपने पिता को सम्मानित किया जाता हैं और उन्हें उपहार (गिफ्ट) यह कोई अन्य भेंट दी जाती है।
  • इस दिन पिता के लिए उनका फेवरेट खाना या डिश बनाना जाता हैं।
  • इस दिन पिता के लिये केक काटा जाता हैं।
  • जब 1910 में पहली बार फादर्स डे मनाया था तो वाशिंगटन की सोनारा ने घोड़ा-गाड़ी पर बैठ कर पूरे शहर में बीमार पिताओं के घर जाकर उन्हें उपहार दिये थे।

घर बैठे पैसा कैसे कमायेंं जाने सम्‍पूर्ण जानकारी यह भी पढें… 

मेरे पिता पर 10 लाइनें (10 lines on my father)

फादर्स डे

  • मेरे पिताजी मेरे लिए आदर्श दुनियां के सबसे बेहतरीन इंसान और मेरे भगवान हैं।
  • वे मुझसे और हमारे पूरे परिवार से बेहद प्रेम करते हैं। और हमारी हर जरूरतों का पूरा ख्याल रखते हैं।
  • मैं अपने करीबी मित्र एवं सलाहकार के रूप में अपने पिता के साथ हर बात साझा करता हूँ।
  • उनका मुझ पर अटूट भरोसा हैं। वे हमेशा मुझे प्यार से समझाते हैं।
  • जब कभी मैं उदास होता हूँ तो मेरे पिताजी मेरा मन बहलाने लगते हैं।
  • वह पढ़ाई तथा गृहकार्य में भी कई बार मेरी मदद करते हैं।
  • छुट्टियों में मैं अपने पिताजी के साथ घूमने जाता हूँ।
  • भगवान को हर रोज ऐसे पिता देने के लिए उनका धन्यवाद करता हूँ।
  • बड़ा होकर मैं अपने माता पिता का नाम रोशन करुगा तथा बुढ़ापे मे उनका सहारा बनूंगा।
  • मेरे माता पिता ही मेरे भगवान हैं।
CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!