BREAK NEWS

निकट है बाढ़ का खतरा, सतर्क हो जाएं नर्मदा तटवासी

निकट है बाढ़ का खतरा, सतर्क हो जाएं नर्मदा तटवासी

सभी संवेदनशील क्षेत्रों में डिस्ट्रिक्ट रिस्पांस टीम तैनात

नर्मदापुरम। बाढ़ आपदा की स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी आवश्यक तैयारियां की गई हैं। सभी संवेदनशील क्षेत्र जहां पिछले 5 वर्षों में बाढ़ आई है वहां बाढ़ सुरक्षा समिति बनाने के साथ ही पांच-पांच होमगार्ड बल के 15 डिस्ट्रिक्ट रिस्पांस टीम भी तैनात की गई है। यह रिस्पांस टीम ऐसे संबंधित थानों में आवश्यक सुरक्षा सामग्री के साथ मौजूद है।

जिला स्तर पर कलेक्ट्रेट कार्यालय (collectorate office) में कंट्रोल रूम (control room) बनाया गया है जिसका दूरभाष क्रमांक 07574-251292 है, जो 24 घंटे राउंड द क्लॉक सक्रिय हैं। जो सभी तहसीलों में बनाए गए बाढ़ कंट्रोल रूम (control room) से जानकारी एकत्र करने के साथ ही बल्लभ भवन भोपाल (Ballabh Bhawan Bhopal) में स्थित राज्य स्तरीय सिचुएशन रूप से संपर्क में हैं।

कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह ने सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ, सीएमओ एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को अलर्ट रहने एवं सतत निगरानी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

बरगी, बारना एवं तवा जलाशय की सतत निगरानी

बरगी बांध (Bargi Dam) जलाशय से पानी छोड़े जाने पर जिले के माखननगर एवं पिपरिया तहसील जबकि बरगी एवं तवा जलाशय में पानी छोड़े जाने से नर्मदापुरम क्षेत्र प्रभावित होता है। बरगी बांध का पानी पिपरिया के सांडिया घाट पर 26 से 30 घंटे में पहुंचता है जबकि नर्मदापुरम के सेठानी घाट पर इसे पहुंचने में 35 से 42 घंटे लगते हैं।

तीनों जलाशयों से एक साथ पानी छोड़ने से बाढ़ का खतरा और बढ़ जाता है। जिसके लिए तीनों जिले के जिला प्रशासन, जल संसाधन विभाग एवं संबंधित अधिकारियों का व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया गया है। साथ ही सतत संपर्क एवं आपसी समन्वय से जलाशयों का पानी इस प्रकार छोड़ा जाता है कि बाढ़ की स्थिति निर्मित ना हो।

इन स्थानों पर तैनात है डिस्ट्रिक्ट रिस्पांस टीम

बाढ़ की स्थिति पर त्वरित आवश्यक कार्यवाही के लिए 15 डिस्ट्रिक्ट रिस्पांस टीम बनाई गई है। प्रत्येक टीम में पांच पांच होमगार्ड के सैनिक शामिल हैं। यह टीम उमरधा, सांडिया, सोहागपुर, माखननगर तवानगर, बांद्राभान, सेठानी घाट, पाहनवरी, आवली घाट, डोलरिया पापनगांव, महिमानगर क्षेत्र में तैनात हैं। इसके अतिरिक्त तहसील पिपरिया, सोहागपुर, माखननगर, नर्मदापुरम और सिवनी मालवा में बाढ़ सुरक्षा समिति भी बनाई गई है। जिसके लिए संबंधित तहसीलदार को प्रभारी नियुक्त किया गया है। जिनके द्वारा बाढ़ की स्थिति की निरंतर निगरानी की जा रही है।

राहत पुनर्वास केंद्रों पर की गई समुचित व्यवस्थाएं

बाढ़ की स्थिति पर त्वरित राहत एवं बचाव कार्य के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं। साथ ही सभी तहसीलों में राहत पुनर्वास केंद्र बनाए गए हैं जहां राशन एवं चिकित्सा की भी व्यवस्था की गई हैं। नर्मदापुरम में नर्मदा महाविद्यालय, एसएनजी स्कूल, साधुवानी ग्वालटोली, शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय, एसपीएम, मालाखेड़ी प्राथमिक शाला, नालंदा स्कूल, साहू समाज धर्मशाला आदि राहत पुनर्वास केंद्र बनाए गए हैं।

नर्मदापुरम के यह क्षेत्र होते हैं प्रभावित

नर्मदापुरम के सेठानी घाट में मां नर्मदा का जलस्तर 967 फीट से अधिक होने पर नगर की निचली बस्तियों में जलभराव की स्थिति निर्मित होती है जिसमें शनिश्चरा वार्ड, भीलपुरा, लेडिया नाला जगदीशपुरा क्षेत्र शामिल है। 970 फीट से अधिक जलस्तर होने पर नगर के आजमगढ़, संजय नगर, ग्वालटोली, बंगाली कॉलोनी फेफरताल, बीटीआई रोड, एसपीएम, नारायण नगर क्षेत्र जलभराव से प्रभावित होते हैं।

सुरक्षित स्थानों पर रहे, जिला प्रशासन की अपील

तवा बांध एवं बरगी बांध से पानी छोड़े जाने के चलते नर्मदा नदी का जल स्तर बढ़ सकता हैं। जिला प्रशासन ने नर्मदा नदी के तटीय इलाकों के रहवासियों से घाटों और डूब में आने वाले क्षेत्रों में प्रवेश न करने तथा सुरक्षित दूरी बनाये रखने का आग्रह किया है।

आमजन से अपील, सुरक्षित ऊंचे स्थानों पर रहे

नर्मदापुरम जिले में 24 घंटे से लगातार हो रही भारी बारिश एवं तवा, बारना, बरगी बांधो से पानी छोड़े जाने से जिले में नर्मदा नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है, जिससे निचली बस्तियों एवं तटीय इलाकों में जलभराव की स्थिति निर्मित हो रही है। साथ ही मौसम विभाग (weather department) द्वारा अगले 24 घंटे के लिए जिले में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया गया।

कलेक्टर नर्मदापुरम नीरज कुमार सिंह (Collector Narmadapuram Neeraj Kumar Singh) ने जनसामान्य से अपील की है कि वे नर्मदा नदी के तटीय इलाकों में प्रवेश न करें । बाढ़ प्रभावित तथा जलभराव वाले संभावित निचले स्थानों से सुरक्षित ऊंचे स्थानों जाए। पुल/पुलिया में अधिक बहाव होने की स्थिति में उसे पार करने का प्रयत्न न करें, सावधान रहें एवं सुरक्षित रहे। आवश्यक होने पर आवागमन के लिए सुरक्षित मार्गों का उपयोग करें। बाढ़ संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या व जानकारी हेतु बाढ़ नियंत्रण कक्ष 07574-251292 से संपर्क करें एवं प्रशासन को सूचित करें।

कमिश्नर मालसिंह ने सेठानी घाट पर बाढ़ की स्थिति का लिया जायजा

नर्मदापुरम जिले (Narmadapuram District) में लगातार हो रही भारी बारिश के दृष्टिगत कमिश्नर नर्मदापुरम मालसिंह (Commissioner Narmadapuram Malsingh) ने आज सेठानी घाट पहुंचकर यहां बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान कलेक्टर नीरज कुमार सिंह (Collector Neeraj Kumar Singh), पुलिस अधीक्षक डॉ गुरकरन सिंह (Superintendent of Police Dr Gurkaran Singh) सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।

कमिश्नर ने जलसंसाधन विभाग (Department of Water Resources) के अधिकारियों से तवा बांध में इनफ्लो एवं आउटफ्लो और संभावित स्थिति की जानकारी ली।

कमिश्नर ने कहा कि नर्मदा नदी के तटीय क्षेत्रों में बसे ग्रामों तथा निचली बस्तियों में लगातार निगरानी की जाए। ऐसे क्षेत्र जहां जलभराव की स्थिति बनती है वहां के लोगों को तत्काल ऊंचे सुरक्षित स्थानों तथा बाढ़ राहत शिविरों में पहुंचाया जाए। बाढ़ के दृष्टिगत चिन्हित किए गए राहत पुनर्वास केंद्रों पर साफ-सफाई भोजन चिकित्सा आदि की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!