शहर में बढ़े चार और कंटेन्मेंट जोन, कुल हुए 16

शहर में बढ़े चार और कंटेन्मेंट जोन, कुल हुए 16

इटारसी। शहर में चार नये कोरोना वायरस(Corona virus) से ग्रसित मरीज मिलने के बाद प्रशासन ने चार नये कंटेन्मेंट जोन(containment zones) बनाये हैं। इनमें सूरजगंज(Suratganj), चामुंडा चौराहा(Chamunda chouraha), वेंकटेश नगर(Venkatesh Nagar) और गांधीनगर(Gandhi nagar) के क्षेत्र शामिल हैं।
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार आज नये कंटेन्मेंट जोन(Four more containment zones) बांस डिपो के सामने सूरजगंजए चामुंडा चैराह के पास सिंडीकेट बैंक वाली गली गांधीनगरए परदेशी किराना के सामने वाली गली वेंकटेश नगर एवं हनुमान मंदिर के पास गांधीनगर में कोरोना वायरस के नये पॉजिटिव मरीज पाये गये हैं। इस कारण इन क्षेत्रों को नये कंटेन्मेंट जोन बनाया गया है। इन नये चार कंटेन्मेंट जोन को मिलाकर शहर में 16 कंटेन्मेंट जोन हो गये हैं।

ये हैं सभी कंटेन्मेंट जोन
बाइबल कालेज के बगल में मालवीयगंज, फेस.1 ग्रांड एवेंन्यु कालोनी सोनासांवरी नाका इटारसी, फेस.1 शिवाजी नगर, कृष्णा विहार कालोनी, संजय गांधी मार्ग, नाला मोहल्ला, मस्जिद के बगल वाली गली पीपल मोहल्ला, सुखजिंदर बिन्द्रा के घर के पास पंजाबी मोहल्ला, कुर्मी मोहल्ला, रॉयल एस्टेट कालोनी, नूरानी मस्जिद के पास नाला मोहल्ला, स्वप्नेश्वर मंदिर तिराहा, सरस्वती स्कूल के सामने मालवीयगंज इटारसी, देवल मंदिर के पास वाली गली पुरानी इटारसी, डॉ.पाराशर के निवास के पास हाउसिंग बोर्ड कालोनी, महावीर स्कूल के पास पत्रकार कालोनी, बांस डिपो के सामने सूरजगंज, चामुंडा चौराहा के पास सिंडीकेट बैंक वाली गली गांधीनगर, परदेशी किराना के सामने वाली गली वेंकटेश नगर, हनुमान मंदिर के पास गांधीनगर।

ये प्रतिबंधित रहेगा
यहां सामाजिक वाहनों का आवागमन, सोशल गेदरिंग पूर्णत: निषिद्ध रहेगी। कंटेन्मेंट जोन में आवागमन प्रतिबंधित रहेगा तथा समस्त निवासियों का होम क्वारंटीन रहना होगा। तीन किलोमीटर की परिधि को पेरीमीटर कंट्रोल किया जाना होगा जिसके अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं की अतिरिक्त किसी भी प्रकार का आवागमन पूर्णतरू निषिद्ध होगा। होम कोरेन्टाइन किये लोगों को कम्युनिटी सर्विलेंस से मॉनिटरिंग होगी। क्वारंटीन हुए लोगों में किसी भी तरह के कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर मेडिकल मोबाइल टीम यूनिट घर जाकर परीक्षण करेगी और आवश्यक होने पर मेडिकल मोबाइल यूनिट या रेपिड रिस्पांस टीम संबंधित व्यक्तियों की जांच सेंपल लेना सुनिश्चित करेगी। प्रवेश और निकास बिन्दु पर स्वास्थ्य विभाग का अमला जांच करेगा।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: