पुलिस स्मृति दिवस: राज्यपाल ने शहीद पुलिस जवानों को दी श्रद्धांजलि

पुलिस स्मृति दिवस: राज्यपाल ने शहीद पुलिस जवानों को दी श्रद्धांजलि

विकास के लिए समाज में शांति सद्भाव जरुरी-श्रीमती पटेल

भोपाल। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Governor Anandiben Patel) ने कहा कि समाज में शांति सद्भाव और भाई-चारे के वातावरण को मजबूत रखने से ही विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि पुलिस असामाजिक तत्व (Police anti-social elements) एवं राष्ट्र द्रोही ताकतों का पूरी कठोरता के साथ दमन करें। यह भी सुनिश्चित करें कि आमजन स्वयं को सुरक्षित महसूस करें। कभी किसी निर्दोष के साथ अन्याय नहीं हो। राज्यपाल पटेल आज लाल परेड मैदान (Red Parade Ground) स्थित शहीद स्मारक प्रांगण (Shaheed ismarak) में पुलिस स्मृति दिवस आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उन्होंने देश और प्रदेश के सभी शहीद पुलिस अधिकारियों और जवानों को श्रद्धांजलि दी। शहीदों के परिजनों को भरोसा दिलाया कि मध्यप्रदेश सरकार पुलिस प्रशासन और संपूर्ण प्रशासन उनके साथ है। कार्यक्रम में गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra), मुख्य सचिव इकबाल सिंह बेस(Chief Secretary Iqbal Singh Base), अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा (Additional Chief Secretary Home Dr. Rajesh Rajaura) भी मौजूद थे।

राज्यपाल पटेल ने पुलिस बल का आव्हान किया कि अपने अमर शहीद साथियों की शहादत से प्रेरणा लेकर अपने कर्त्तव्यों का पालन करें। पुलिस समाज का अभिन्न अंग है। उसकी सक्रिय भागीदारी के साथ ही विकास की सोच फलीभूत हो सकती है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति को सुदृढ़ बनाये रखने के लिये प्रदेश पुलिस द्वारा सराहनीय प्रयास किये जा रहे हैं। इन प्रयासों को और बेहतरी के साथ जारी रखना होगा। अपराधों की त्वरित विवेचना और अपराधियों को सजा दिलाने में वृद्धि प्रदेश पुलिस की सक्रियता से ही संभव हुई है। यह गर्व की बात है कि मध्यप्रदेश पुलिस की गणना देश के श्रेष्ठ बलों में की जाती है, जो पहचान पुलिस के जांबाज जवानों ने स्थापित की है उसे और अधिक निखारने की दिशा में सदैव तत्पर रहें।

प्रदेश के नवाचार डायल-100 को देश के विभिन्न राज्यों ने अपनाया है। राज्य में एफआईआर आपके द्वारा पायलेट प्रोजेक्ट शुरू करना, ऑनलाईन चरित्र सत्यापन की सुविधा जनसामान्य के लिये उपलब्ध कराना सराहनीय है। उन्होंने हाल ही में मध्यप्रदेश पुलिस की हॉक फोर्स ने बालाघाट जिले में आठ लाख रूपये के इनामी नक्सली बादल को गिरफ्तार करने में सफलता के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस ने दस्यु समस्या के निदान के साथ-साथ नक्सलियों के खात्मे की दिशा में उल्लेखनीय काम किया है। कोरोना संक्रमण की इस वैश्विक महामारी में प्रदेश की पुलिस ने सराहनीय कार्य किया है। वर्तमान सरकार ने पुलिस बल में वृद्धि के साथ ही उन्हें आधुनिकतम हथियारों और उपकरणों से लेस करने के निर्णय लिये हैं। इन प्रयासों को आगे भी जारी रखने की जरूरत है।

राज्यपाल ने कहा कि हर्ष का विषय है कि पुलिस स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (Police Health Protection Scheme) में कर्मियों के परिजनों को भी लाभ दिया जा रहा है। पुलिस जवानों और अधिकारियों की लगातार कठिन ड्यूटी को देखते हुए उनके परिजनों की सुख-सुविधाओं और कल्याण के प्रति सरकार का पूरा ध्यान है। उन्होंने प्रदेश की शांतिप्रिय जनता की भी सराहना करते हुए कहा कि जनता के अनुशासित एवं भाईचारा पूर्ण आचरण से हमारे प्रदेश की देश में साख बनी है।

कार्यक्रम के दौरान पुलिस बैंड द्वारा निकाली जा रही देशभक्ति के गीतों की मधुर धुन के बीच शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। आरंभ में पाल-बेयरर पार्टी द्वारा सम्मान सूची को स्मारक कोष में स्थापित किया गया और शहीद स्मारक को सलामी दी गई। आयोजित परेड का नेतृत्व भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी श्री आदित्य मिश्रा ने किया। परेड में महिला प्लाटून विशेष सशस्त्र बल एवं जिला बल की संयुक्त टुकड़ी, विशेष सशस्त्र बल की पुरूष प्लाटून, पुलिस बैंड प्लाटून और श्वान दल की टुकड़ियाँ शामिल थी।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: