पचमढ़ी से गायब हुई बुश ब्राउन तितली, रातापानी अभयारण्य में मिली

पचमढ़ी से गायब हुई बुश ब्राउन तितली, रातापानी अभयारण्य में मिली

होशंगाबाद। रातापानी वन्य प्राणी अभयारण्य (Ratapani Wildlife Sanctuary) में तितलियों के सर्वेक्षण के काम किया जा रहा था। तीन दिन के इस सर्वे के दौरान कई दुर्लभ तितलियां भी मिलीं। वनाधिकारियों के अनुसार इस तीन दिनी सर्वेक्षण में रातापानी वन्य प्राणी अभयारण्य में 103 प्रजातियों की तितलियां पाई गईं। सर्वे में पचमढ़ी में पिछले 20 सालों से दिखाई नहीं देने वाली ‘पचमढ़ी बुश ब्राउन तितली भी मिली।

पचमढ़ी से गायब हुई यह तितली अभ्यारण्य के बिनेका परिक्षेत्र के घोड़ा पछाड़ बीट में विशेषज्ञों ने ढूंढ निकाली। पचमढ़ी की यह दुर्लभ तितली पचमढ़ी से आए महेंद्र कलम ने ही खोजी। इस दौरान एंगल्ड पायरेट, ब्लैक राजा, नवाब, कॉमन ट्री ब्राउन, ट्राई-कलर्ड पाइड फ्लेट दुर्लभ प्रजाति की तितलियां भी मिलीं। जंगल में तितलियों को खोजने के लिए देशभर से विशेषज्ञ आए थे।

यहां देश के 14 राज्यों से 88 तितली विशेषज्ञ आए जिनमें 20 महिलाएं भी शामिल रहीं। इनमें 11 साल की लड़की स्वाति भी शामिल थी। उन्होंने जंगल में चॉकलेट फेंसी नाम की तितली खोजी। वनमंडलाधिकारी विजय कुमार ने ख्याति को इस उपलब्धि के लिए प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया।

विशेषज्ञों की यह टीम रविवार को वापस देलावाड़ी पहुंची जहां तितली सर्वेक्षण के समापन अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया गया. समापन समारोह में मुख्य अतिथि अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक के. एमन, विशेष अतिथि अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक संजय शुक्ला एवं सीबीआई संयुक्त संचालक रमनीश गीर ने प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए। अधिकारियों ने कई दुर्लभ प्रजाति की तितलियां मिलने पर खुशी जताई।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: