फर्जी बिल द्वारा वनोपज का हो रहा था व्यापार, वन टीम ने पकड़ा

फर्जी बिल द्वारा वनोपज का हो रहा था व्यापार, वन टीम ने पकड़ा

होशंगाबाद/इटारसी। सामान्य वन मंडल (General forest division) के सीसीएफ आरपी राय (CCF RP Rai), डीएफओ लालजी मिश्रा (DFO Lalji Mishra) के मार्गदर्शन एवं एसडीओ शिवकुमार अवस्थी (SDO Shivkumar Awasthi)के निर्देशन में वनवृत्त उडऩदस्ता होशंगाबाद के प्रभारी डिप्टी रेंजर हरगोविंद मिश्रा (In-charge Deputy Ranger Hargovind Mishra) और इटारसी वन परिक्षेत्र अधिकारी जयदीप शर्मा (Forest Range Officer Jaideep Sharma) सहित वन टीम ने फर्जी बिल द्वारा वनोपज का व्यापार करने वाले का खुलासा करने में सफलता प्राप्त की है।
एसडीओ शिवकुमार अवस्थी ने बताया कि 6 अक्टूबर 2021 को प्राप्त सूचना पर फर्नीचर 4-यू के द्वारा फर्जी बिल द्वारा वनोपज का व्यापार किया जा रहा है। सूचना पर कार्रवाई में फर्नीचर 4-यू के कारखाने में प्रभारी उडऩदस्ता एचजी मिश्रा उपवन क्षेत्रपाल के द्वारा छापामार कार्रवाई करते हुए वाहन मैजिक ऑटो को भोपाल एवं इटारसी के सभी रास्तों पर घेराबंदी कर पकड़ा गया। वाहन एनएच 69 खेड़ा क्षेत्र इटारसी में रोका गया तो पाया कि ऑटो में बोरियों में 48 नग चिरान भरी थी। वाहन चालक के पास फर्नीचर 4-यू का बिल क्रमांक 53, दिनांक 04.10.2021 का पाया गया जिस पर वन परिक्षेत्र होशंगाबाद में रजिस्ट्रेशन होने का प्रमाण वाली सील नहीं थी एवं बिल पर फिटनेस वुड लिखा था, जबकि वनोपज चिरान थी।
वाहन को वन परिक्षेत्र कार्यालय इटारसी में लाया गया जहां पर वनोपज का मिलान किया। बिल पर 700 नग एवं मौके पर 945 नग सागौन चिरान होना पाया गया। प्रकरण क्रमांक 13691/10 दिनांक 06.10.2021 धारा म.प्र. वनोपज (व्यापार विनिमय) अधिनियम 1969 की धारा 5 (1), काष्ट नियम 9 4 (1) पंजीबद्ध किया गया। जब्त वाहन मैजिक एमपी 04, एलडी-6704 वाहन मालिक मनोज वल्द कमल कुमार अहिरवार पर प्रकरण दर्ज करते हुए मामले में जांच जारी है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!