अभा बाघ आंकलन के लिए मास्टर ट्रेनरों ने दिया प्रशिक्षण

अभा बाघ आंकलन के लिए मास्टर ट्रेनरों ने दिया प्रशिक्षण

होशंगाबाद। अखिल भारतीय बाघ आकलन 2022 आगामी माह नवंबर-दिसंबर में होना है। इस संबंध में होशंगाबाद वनमंडल (Forest Department) के मास्टर ट्रेनरों द्वारा पचमढ़ी में तीन दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त कर 21 सितंबर एवं 22 सितम्बर को उप वनमंडलाधिकारी होशंगाबाद, अखिल भारतीय बाघ आंकलन समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश बिडारे, सहायक वनसंरक्षक ऋषि कुलपारिया, वनपाल मास्टर ट्रेनर, उपेन्द्र चौधरी, वनरक्षक मास्टर ट्रेनर द्वारा वन परिक्षेत्र इटारसी/सुखतवा सामान्य के 52 वन कर्मियों एवं अधिकारियों को हिरनचापड़ा नर्सरी एवं परिसर केसला में प्रशिक्षण दिया गया।
उप वन मंडल अधिकारी शिव अवस्थी ने बताया कि इस बार बाघ आंकलन प्रक्रिया पूर्व वर्षो से हटकर है। इस बार बाघ आकलन में प्रपत्रों में आंकड़ों का इस बार ऑनलाइन सर्वे हाना है। एप के माध्यम से सर्वे किया जायेगा। एप के माध्यम से ऑनलाइन सर्वे में बरती जाने वाली सावधानियां एवं बारीकियों के बारे में वन अमले को प्रशिक्षण दिया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 की अखिल भारतीय बाघ गणना में मध्यप्रदेश देश में प्रथम स्थान पर आया था। बाघ गणना करने का उद्देश्य बाघ गणना से वनो की वास्तविक स्थिति का पता करना तथा पारिस्थितिकी तंत्र सुधार होना ताकि वन में मांसाहारी एवं शाकाहारी वन्यप्राणियों का संतुलन बना रहे।
प्रशिक्षण में बाघ गणना का महत्व, साईन सर्वे, ट्राजेक्ट लाईल सर्वे, प्लाट सर्वे के बारे में प्रशिक्षण दिया गया। मांसाहारी एवं शाकाहारी वन्यप्राणी की पहचान उनके साक्ष्यों के अनुसार एवं वनक्षेत्र में पाये जाने वाले वृक्षों, झाडिय़ों, खरपतवार एवं घास प्रजाति की जानकारी दी गई एवं Mstripes App के माध्यम से होने वाली अखिल भारतीय बाघ आंकलन 2022 की गणना का प्रशिक्षण कार्य कराया गया। समस्त प्रशिक्षणार्थियों को गणना से संबंधित सावधानियां एवं गणना के दौरान आने वाली समस्याओं के निवारण के बारे में भी प्रशिक्षण दिया गया।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!