प्रमुख सचिव ने तीनों जिलों के अफसरों को दिये ये निर्देश

प्रमुख सचिव ने तीनों जिलों के अफसरों को दिये ये निर्देश

होशंगाबाद। प्रमुख सचिव खाद्य विभाग फैज अहमद किदवई (Faiz Ahmed Kidwai) ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार होशंगाबाद में नर्मदापुरम संभाग के तीनों जिले हरदा, बैतूल एवं होशंगाबाद में खरीफ उपार्जन की तैयारियों, धान मिलिंग एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली की प्रगति की विस्तृत समीक्षा की। इस अवसर पर नर्मदापुरम संभाग आयुक्त रजनीश श्रीवास्तव (Rajneesh Srivastava), प्रबंध संचालक मध्य प्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कॉरपोरेशन (Madhya Pradesh State Civil Supplies Corporation) तरुण कुमार पिथोड़े (Tarun Kumar Pithode), संचालक खाद्य दीपक सक्सेना ( Deepak Saxena), कलेक्टर होशंगाबाद नीरज कुमार सिंह ( Neeraj Kumar Singh), कलेक्टर बैतूल अमनबीर सिंह बेस (Amanbir Singh Bess) सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
श्री किदवई ने तीनों जिले में खरीफ उपार्जन की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि खरीदी केंद्रों पर उपार्जन के लिए केंद्रों पर सातों दिन के लिए बारदानो का स्टॉक रखें ताकि खरीदी कार्य निर्बाध रूप से जारी रहे। केंद्रों पर उपार्जन के बाद बोरियों पर तुरंत स्टैग लगवाएं। निचले इलाकों में खरीदी कार्य गोदाम स्तर पर न किया जाए। इच्छुक स्व सहायता समूह, कृषि उत्पादक संगठन आदि को भी उपार्जन कार्य से जोड़ें। समिति स्तर पर खरीदी से लेकर परिवहन और भंडारण के सुचारू रूप से क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक समिति स्तर पर धर्मकांटे की व्यवस्था करें। समितियों की मैपिंग करें तथा जहां पर धर्म कांटे नहीं हैं वहां पीपीपी मोड पर व्यवस्था करें। उपार्जित धान के भंडारण के लिए पहली प्राथमिकता गोदामों को दी जाए। भंडारण प्लान बनाते समय यह देखें कि कौन सा गोदाम धान मिल के नजदीक है, उसी अनुरूप गोदामों की मैपिंग की जाए ताकि धान मिलिंग का कार्य भी तेजी से हो सके।
उन्होंने उपार्जन संबंधी अधिकारियों को निर्देशित किया कि जस्ट इन टाइम प्रोटोकोल कहते हैं किसानों को भुगतान किया जाए। इस वर्ष बैंक खाते से आधार लिंक होने पर ही किसानों को भुगतान किया जाएगा। ऐसे किसान, जिनका खाता आधार से लिंक नहीं है, उनके आधार लिंक की कार्रवाई तेजी से की जाए। धान के लगातार बढ़ते रकबे के दृष्टिगत या आवश्यक है कि जिलों में धान मिलिंग व्यवस्था को अपग्रेड किया जाए। ऐसे मिलर्स जिनके पास मिलिंग हेतु सारटेक्स मशीन नहीं है उनके उद्यानिकी विभाग की योजना के तहत प्रकरण तैयार करें, जिससे उन्हें सारटेक्स मशीन प्राप्त हो सके।
उपार्जित माल के उठाव में कोताही न बरतें
प्रमुख सचिव श्री किदवई ने निर्देश दिए कि पिछले रबी और खरीफ सीजन के उपार्जित माल का गोदामों से तेजी से उठाव कर एफसीआई के गोदामों तक पहुंचायें। व्यवस्थित कार्ययोजना बनाकर सुचारू रूप से परिवहन सुनिश्चित करें। गोदाम संचालक द्वारा लापरवाही बरते जाने पर उन्हें ब्लैकलिस्ट कर वसूली की कार्यवाही करें। प्रत्येक उचित मूल्य दुकानों पर भंडारण क्षमता को और बढ़ाया जाए। सभी दुकानों पर अतिरिक्त 2 माह के राशन का भंडारण करें ताकि निर्बाध रूप से हितग्राहियों को राशन का वितरण किया जा सके। हितग्राहियों को न्यूनतम दूरी पर राशन मिले इसका विशेष ध्यान रखें। श्री किदवई ने नापतोल नियंत्रक विभाग को उपार्जन केंद्रों, पेट्रोल पंप उचित मूल्य दुकान आदि का लगातार निरीक्षण करने के निर्देश दिए।
आदिवासी ब्लॉकों में घर घर होगा राशन प्रदाय
प्रमुख सचिव श्री किदवई ने बताया कि आदिवासी ब्लॉकों में हितग्राहियों को घर-घर राशन प्रदाय किया जाना है। संभवत: 15 नवंबर से यह कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक आदिवासी ब्लॉक में क्लस्टर बनाने तथा राशन वितरण के लिए आवश्यक कार्यवाही के निर्देश अधिकारियों को दिए।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!