गेहूं उपार्जन में अब तक 8 लाख 9 हजार मीट्रिक टन की खरीदी

गेहूं उपार्जन में अब तक 8 लाख 9 हजार मीट्रिक टन की खरीदी

5 हजार मीट्रिक टन गेहूं मिट्टी व सूखत के कारण रिजेक्ट हुआ

होशंगाबाद। जिले मे गेहूं उपार्जन (Gehu Uparjan) मे किसी प्रकार की अव्यवस्थाये नही हुई है। बकायदा बेहतर तरीके से गेहूं की खरीदी और परिवहन हो रहा है,ऐसा कहना नागरिक आपूर्ति निगम के महाप्रबंधक दिलीप सक्सेना (Civil Supplies Corporation General Manager Dilip Saxena) का। सक्सेना ने बताया कि इस बार जिले मे गेहूं उपार्जन मे 8 लाख 50 हजार मीट्रिक टन की खरीदी का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसमे से 24 तारीख तक 8 लाख 9 हजार मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी हो चुकी है और 8 लाख मीट्रिक टन गेहूं का परिवहन हो चुका है। लगभग 5 हजार मीट्रिक टन गेहूं मिट्टी, सूखत व अन्य कारणो से रिजेक्ट किया गया है। बारदाने की कमी की खबरे आ रही थी लेकिन बारदानो का एक रैक आने के कारण अब इसकी समस्या नही है। परिवहन कार्य तेजी से किया जा रहा है। बीच मे अचानक हुई बारिश से जिले मे कही भी गेहूं खराब होने की खबर नही है। बारिश के दौरान उसे तिरपाल से ढकवा दिया गया था। वही उनका कहना है जिन खरीदी केन्द्रो मे अनियमितताओ की शिकायतें आ रही थी और सर्वेयरो के द्वारा पैसे लेने की खबर आ रही थी वहा के सर्वेयरो को हटा दिया गया है। अभी लगभग 7 से 8 हजार मीट्रिक टन गेहूं का परिवहन होना बाकी है जिसे जल्द ही परिवहन कराने का प्रयास किया जा रहा है। वही उन्होंने सिवनीमालवा के बनाडा खरीदी केन्द्र मे गेहूं मे रेत मिलाने के मामले मे बताया की खरीदी करने वाली फर्म के संचालक पर एफआई आर करवा दी गई है।खरीदी केन्द् को बंद करा दिया गया है। बहरहाल कुल मिलाकर नागरिक आपूर्ति निगम के महाप्रबंधक दिलीप सक्सेना के अनुसार इस बार गेहूं खरीदी कार्य बेहतर बताया जा रहा है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!