विस्थापन पर अब आदिवासियों को मिलेंगे 20 लाख और नौकरी

विस्थापन पर अब आदिवासियों को मिलेंगे 20 लाख और नौकरी

केन्द्रीय मंत्री ने की 25 लाख से आदिवासी सांस्कृतिक भवन बनाने की घोषणा

होशंगाबाद। केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते (Minister of State for Rural Development Faggan Singh Kulaste) ने कहा कि भारतीय गौरवशाली सभ्यता के संरक्षण में आदिवासी समाज की महत्वपूर्ण भूमिका है। आदिवासी समाज के गौरवशाली इतिहास और सभ्यता के साथ उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है। विस्थापन पर अब प्रत्येक आदिवासी को 10-10 लाख के स्थान पर 20 लाख की राशि देने की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही निजी कंपनियों में नौकरी देने के प्रयास किए जाएंगे। आदिवासी समाज के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए 25 लाख की लागत से होशंगाबाद में सांस्कृतिक भवन बनाया जाएगा।
कुलस्ते आज ब्लॉक बाबई में वीरांगना रानी दुर्गावती की 497 वी जयंती समारोह में संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सांसद राव उदय प्रताप सिंह (MP Rao Uday Pratap Singh), विधायक विजय पाल सिंह (MLA Vijay Pal Singh), माया नारोलिया (Maya Narolia), माधव दास अग्रवाल (Madhav Das Agarwal), सेवानिवृत्त उपायुक्त सहकारिता बीएस परते (Retired Deputy Commissioner Cooperative BS Parte), गौरव सलाम, शक्ति सिंह मरकाम, गिरधारी लाल धुर्वे, दुर्गेश सलाम, जगदीप नर्रे सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आदिवासी वर्ग उपस्थित रहा। कुलस्ते ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee) द्वारा शुरू वीर आदिवासी शहीदों के स्मारकों के भव्य बनाने और उनकी वीरगाथा से जन-जन को अवगत कराने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा कार्य जारी है। वीर अमर शहीदों के बलिदान की कहानियों को संजोया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि वीरांगना रानी दुर्गावती की अमर कथाओं से प्रेरणा लें, देश और समाज के विकास के लिए एकजुट होकर आगे बढ़ें। तवा नदी के कटाव से प्रभावित होने वाले किसानों के मद्देनजर पिचिंग बनाकर नदी के कटाव को रोका जाएगा। आदिवासियों के हितों के दृष्टिगत पेसा कानून को शीघ्र लागू करेंगे। आदिवासी क्षेत्रों में नल से जल पहुंचाने, हर घर में बिजली आपूर्ति के साथ ही सभी पात्रजनों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी दिया जाएगा।

आदिवासी समाज सतपुड़ा का श्रंगार
सांसद राव उदय प्रताप सिंह (MP Rao Uday Pratap Singh) ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें आदिवासी समाज निरंतर आगे बढ़ रहा है। आदिवासियों को उनकी जमीन पर मालिकाना हक हो या विस्थापन, आदिवासियों के हितों का विशेष ध्यान रखा गया है। केंद्र एवं प्रदेश सरकार आदिवासियों के सड़क, बिजली, आवास , शिक्षा आदि मूलभूत सुविधाओं की प्रदायगी के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज सतपुड़ा का श्रृंगार और देश का गौरव है।

आदिवासियों के कल्याण में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे
विधायक विजय पाल सिंह (MLA Vijay Pal Singh) ने कहा कि आदिवासी वर्ग के कल्याण और उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। विस्थापन में भी ज्यादा से ज्यादा उन्हें पुनर्वास पैकेज मिले इसके प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने आग्रह किया कि आदिवासी समाज अपनी शर्तों पर और पूरी तरह संतुष्ट होने पर ही विस्थापित हो । उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज की सबसे बड़ी ताकत उनकी एकता है। इसी तरह एकजुट होकर हम समाज और प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए निरंतर आगे बढ़ेंगे।

आदिवासी कलाकारों ने दी शानदार प्रस्तुतियां
कार्यक्रम में आदिवासी समाज के कलाकारों द्वारा आदिवासियों की लोक संस्कृति पर आधारित शानदार प्रस्तुतियां दी गई। कार्यक्रम में विधायक विजय पाल सिंह ने शानदार प्रस्तुतियों पर 4 नृत्य समूहों को विधायक निधि से 10 10 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी गई।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!