जिले में मानसून की बेरुखी, पिछले वर्ष से कम हुई है वर्षा

जिले में मानसून की बेरुखी, पिछले वर्ष से कम हुई है वर्षा

  • गर्मी से परेशान आमजन और फसल के लिए किसानों को अच्छी वर्षा का इंतजार
  • उत्तर और उत्तर-पूर्वी भारत में तबाही मचा रहे बादल जिले में हैं खामोश
  • पिछले चौबीस घंटे में जिले की हर तहसील में वर्षा, लेकिन निरंतरता में कमी

इटारसी। गर्मी से परेशान आमजन और धान की फसल के लिए किसान मानसून की सक्रियता का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उत्तर भारत (North India) और उत्तर-पूर्वी भारत (North-East India) में तबाही मचा रहे बादल यहां खामोश हैं। आमजन गर्मी से परेशान है और किसान धान की सफल में देरी होने से चिंता में हैं। जिले की औसत वर्षा की बात करें तो नर्मदापुरम (Narmadapuram) में पिछले वर्ष की अपेक्षा 6.3 मिमी वर्षा कम हुई है। पिछले वर्ष वर्षा 194.1 मिमी थी जो इस वर्ष 187.8 मिमी है।

पिछले चौबीस घंटे में नर्मदापुरम जिले की हर तहसील में मानसून मेहरबान रहा है। लेकिन मानसून की निरंतरता में कमी महसूस की जा रही है। इस दौरान सबसे अधिक वर्षा 39 मिलीमीटर इटारसी (Itarsi) तहसील में दर्ज की गई है। यहां तीन बार अंतराल में जोरदार बारिश हुई है। लेकिन आज सुबह से आसमान पर बादल और धूप-छांव वाला मौसम बना हुआ है।

पिछले चौबीस घंटे में बनखेड़ी (Bankhedi) में 30.6 मिमी, सोहागपुर (Sohagpur) में 22 मिमी, डोलरिया (Dolariya) में 12.1 मिमी, पचमढ़ी (Pachmarhi) में 9 मिमी, माखननगर (Makhannagar) में 6 मिमी, नर्मदापुरम में 4.2 मिमी, सिवनी मालवा (Seoni Malwa) में 0.5 और पिपरिया (Pipariya) में 0.2 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। जिले में औसत वर्षा 13.7 मिमी दर्ज हुई है।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!