BREAK NEWS

International Literacy Day: 8 सितंबर को क्यों मनाया जाता हैं अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस? जानें इतिहास और महत्व

International Literacy Day: 8 सितंबर को क्यों मनाया जाता हैं अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस? जानें इतिहास और महत्व

#InternationalLiteracyDay

International Literacy Day: 8 सितंबर को क्यों मनाया जाता हैं अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस? जानें इतिहास और महत्व

International Literacy Day 2022: साक्षरता देश के विकास के लिए बहुत जरूरी है। देश के जितने ज्यादा नागरिक साक्षर होंगे, वो देश उतनी ही उन्नति कर सकता है। साक्षरता के इस महत्व के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस मनाया जाता है।

समाज में शिक्षा के प्रचार प्रसार के उद्देश्य से 8 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस विश्व भर में मनाया जाता है। आइये जानते हैं कि विश्व साक्षरता दिवस को मनाने की शुरुआत कब और क्यों हुई? पहली बार अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस कब और किसने मनाया?

कब मनाया जाता है साक्षरता दिवस?

दुनियाभर में हर साल अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस 8 सितंबर को मनाते हैं। पहली बार साक्षरता दिवस 1966 में मनाया गया था। तब से इस दिन को मनाने की शुरुआत हो गई।

साक्षरता दिवस का इतिहास

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस की कल्पना पहली बार 1965 में ईरान के तेहरान में आयोजित “निरक्षरता उन्मूलन पर शिक्षा मंत्रियों के विश्व सम्मेलन” में की गई थी। अगले वर्ष यूनेस्को ने इसका नेतृत्व किया और 8 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के रूप में घोषित किया, जिसका प्राथमिक उद्देश्य था “… व्यक्तियों, समुदायों और समाजों के लिए साक्षरता के महत्व और अधिक साक्षर समाजों की दिशा में गहन प्रयासों की आवश्यकता के बारे में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को याद दिलाना।” एक साल बाद, वैश्विक समुदाय ने पहले अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस में भाग लेकर निरक्षरता समाप्त करने की चुनौती को स्वीकार किया।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!