बारिश से दिखी कमजोर व्यवस्था में सुधार की कवायद

बारिश से दिखी कमजोर व्यवस्था में सुधार की कवायद

इटारसी। मानसून की पहली जोरदार बारिश में शहर की सफाई एवं निकासी व्यवस्था की कलई खुल गई है। एक दिन पहले निचले इलाके जलमग्न होने के बाद सोमवार से कई वार्डों में जेसीबी (JCB) एवं सफाई अमला भेजकर कचरे एवं मलबे से पटे नालों-नालियों की सफाई कराई गई। कई वार्डों से लोगों की शिकायतें अधिकारियों तक पहुंची थीं।
भारी बारिश की आशंका को देखते हुए अब स्वच्छता विभाग द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों में मुख्य मार्गों के किनारों पर बड़े नाले एवं नालियों की सफाई कराई जा रही है। छोटी नालियां जहां पानी अवरूद्ध हो रहा है, वहां भी सफाईकर्मी भेजे जा रहे हैैं। स्वच्छता निरीक्षक आरके तिवारी ने बताया कि जहां पहले से जलभराव हुआ है, वहां कीटनाशक पावडर (Insecticide Powder) एवं दवा का छिड़काव किया जा रहा है। सोमवार को न्यास कालोनी (Trust Colony), पुरानी इटारसी (Old Itarsi), सांकरिया नाला (Sankaria Nala), राधा कृष्ण मार्केट (Radha Krishna Market) एवं सूरजगंज (Surajganj,) इलाके में जहां जलभराव हो रहा था, वहां नालों की सफाई कराई गई है। सीएमओ हेमेश्वरी पटले (CMO Hemeshwari Patle) ने बताया कि तेज बारिश से पहले सभी मुख्य वार्डों की सफाई कराई जाएगी।
नपा की स्वच्छता शाखा द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों में मुख्य मार्गों के किनारों पर बड़े नाले एवं नालियों की बरसात के मौसम के आने के पूर्व से ही विशेष साफ-सफाई जेसीबी मशीन की मदद से कराई जा रही है। छोटी नालियों की सफाई के लिए बड़ी टीम लगी है। नालियों की सफाई के बाद मलबे को मौके से उठाकर अन्यत्र स्थान पर फेंका जा रहा है जिससे कि बसाहट वाले क्षेत्रों में वातावरण प्रदूषित न हो। नालियों के आसपास डीडीटी पाउडर (DDT Powder,) का छिड़काव भी कराया जा रहा है। जून माह के दूसरे पखवाड़े में बारिश की शुरुआत के साथ ही बसाहट वाले क्षेत्रों में मच्छरों के प्रकोप से आम नागरिकों के स्वास्थ्य को सुरक्षित किया जा सके।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!