मुझे किसी ने नहीं, जनता ने बनाया है : सरताज

कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी ने किया भाजपा पर प्रहार
इटारसी। कांग्रेस प्रत्याशी बनने के बाद पहली बार अपने गृहनगर में आए पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने आज शाम यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में उनका सहयोग मांगा। उनके निवास स्थान सूरजगंज में हुई बैठक में कांग्रेस के सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे। सबने एकसुर में उनको सहयोग का भरोसा दिया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री विजय दुबे काकूभाई, जसपाल सिंघ भाटिया, नगर अध्यक्ष पंकज राठौर, पूर्व नपाध्यक्ष श्रीमती नीलम गांधी, पूर्व मंडी अध्यक्ष रमेश बामने, अर्जुन भोला, अजय शुक्ला, संभागीय प्रवक्ता अशोक जैन, सेवादल से शेष मेहरा, पूर्व पार्षद अर्जुन सिंह ठाकुर, सफाई कर्मचारियों के नेता महेश आर्य सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता और नेता उपस्थित थे।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सरताज सिंह ने कहा कि हमें चुनाव में जाना है। चुनाव में चरित्र हनन का प्रयास भी होता है, आपको जवाब देना है। आपसे कहा जाएगा कि भाजपा ने सरताज बाबू को इतना कुछ दिया, पांच बार सांसद, दो बार विधायक और मंत्री बनाया है, फिर भी पार्टी छोड़ दी। जवाब देना है कि किसी ने कुछ नहीं बनाया, बल्कि जनता ने बनाया है। आपको तो प्रत्याशी नहीं मिल रहा था, मैंने सीटें जीतकर आपकी लाज रखी है। उन्होंने कांग्रेसियों को बताया कि 1989 में रामेश्वर नीखरा के सामने कोई प्रत्याशी बनने को तैयार नहीं था। मैंने साहस दिखाया। पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा ने तो काफी मान मनौव्वल के बाद शाम को हां कहा और दूसरे दिन सुबह मना भी कर दिया। पार्टी नेताओं ने कुशाभाऊ ठाकरे को समस्या बतायी तो उन्होंने कहा सीट छोड़ दो। मैंने हिम्मत की और कहा कि सीट नहीं छोड़ेंगे चाहे जो हो जाए। आपको तो कोई मिल नहीं रहा था, मैंने जीतकर देश में होशंगाबाद का डंका बजाया और आपका मान बढ़ाया है।

मेरा नाम, पहचान भी नहीं थी
श्री सिंह ने कहा कि जिस वक्त मैंने चुनाव लडऩे का फैसला किया, न तो मेरा नाम था और ना ही पहचान। पूंजी तक नहीं थी। एक वेन थी उसे मैं खुद ड्राइव करता था। गांव-गांव गया, उसी में सोया। हालत खराब हो गयी। अब कहते हो कि तुमने बनाया। दिग्गज नेता अर्जुन सिंह से चुनाव के वक्त तो पार्टी ने सहयोग करने से भी परहेज कर लिया था। मुझे बलि का बकरा समझा था। मंैने जीतकर तुम्हारा मान रखा। हजारीलाल रघुवंशी जैसे दिग्गज नेता को कोई हरा नहीं सकता था। कोई उनके सामने चुनाव लडऩे को तैयार नहीं था, मैंने हिम्मत की।

मैं हमेशा शहीद होने को तैयार
भाजपा को चेताते हुए सरताज सिंह बोले, आप अहसान नहीं जताएं। हम तो हमेशा से शहीद होने के लिए आते रहे हैं। हमें किसी ने नहीं बनाया, जनता ने बनाया है। मैं हमेशा कहता हूं जिनके साथ होती है जनता की शक्ति, उसे हरा नहीं सकती कोई हस्ती। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि मोर्चा तभी जीतोगे जब जनता का आशीर्वाद मिले। किसी बड़े नेता के साथ होने से कुछ नहीं होता। यह गलतफहमी अपने दिल से निकाल देना। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता त्रस्त है, मैंने किसी का बुरा नहीं किया है। जनता को आतंक से मुक्ति दिलाने आया हूं, आपका साथ चाहिए।

35 साल की राजनीति में दाग नहीं
कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सरताज सिंह ने कहा कि 35 वर्षों की राजनीति में उन पर कोई दाग नहीं लगा है। साफ दामन लेकर आया था, साफ दामन लेकर जाऊंगा। आप मेरे विषय में जनता से जब भी बात करोगे तो निश्चिंत होकर करना। आपका प्रत्याशी आपका सिर कभी झुकने नहीं देगा। उन्होंने कहा कि किसान त्रस्त है, रोजगार नहीं है, प्रदेश से कंपनियां भाग रहीं हैं, इंजीनियरिंग कालेज बंद हो रहे हैं। लगातार रात दिन चलते डंपरों ने सड़कों का सीना चीर दिया है और मां नर्मदा से रेत निकाल-निकालकर उसे उजाड़ा जा रहा है।

CATEGORIES
TAGS
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: