सात फेरे लेकर 49 नवयुगल बने जीवन के हमसफर

चौरिया कुर्मी समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन

चौरिया कुर्मी समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन
इटारसी। अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर चौरिया कुर्मी समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन आज को कृषि उपज मंडी प्रांगण में ग्राम सोनासांवरी के संयोजन में हुआ। इस अवसर पर समाज के 49 जोड़ों ने सात फेरे लेकर जीवन के हमसफर बनना स्वीकार किया।
सुबह 9 बजे ही वर-वधु अपने-अपने परिजनों के साथ पहुंच गये थे, जिन्हें अलग अलग ठहरने जनवासा दिये थे। यहां संगठन द्वारा उनका स्वागत सत्कार किया। सुबह करीब 11 बजे बारात प्रारंभ हुई और मंडी प्रांगण में ही करीब एक किलोमीटर का भ्रमण कर विवाह स्थल पर पहुंची, जहां चौरिया कुर्मी समाज के वरिष्ठ जनों ने समस्त दूल्हे राजाओं की अगवानी कर उन्हें वस्त्र एवं बर्तन प्रदान किए। अगवानी पश्चात पाणिग्रहण संस्कार समाज की धार्मिक परंपरानुसार 51 कर्मकांडी ब्राह्मणों ने कराया। यहां अग्नि के समक्ष सात फेरों के साथ ही जीवन भर साथ रहने एवं पति-पत्नी धर्म निर्वाहन हेतु सात संकल्प भी दिलाये। दोपहर 2:30 बजे से प्रारंभ हुआ आशीर्वाद समारोह जिसमें 12-12 जोड़ों की समूहिक रूप से जयमाला कराई एवं आमंत्रित अतिथियों ने वर-वधू को आशीर्वाद स्वरूप प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट किए। इस अवसर पर समाज संगठन द्वारा प्रत्येक जोड़ों को मंगल सूत्र सहित पांच आभूषण पांच बर्तन के साथ ही एक-एक कूलर व वाटर केन दी गई। कार्यक्रम में बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष रामकृष्ण कुसमारिया, जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल, एसपी आशुतोष प्रताप सिंह कृषि उपज मंडी अध्यक्ष विक्रम तोमर, पूर्व मंत्री विजय दुबे काकूभाई, पूर्व विधायक अंबिका प्रसाद शुक्ला, जिला पंचायत सदस्य बाबू चौधरी, मप्र तैराकी संघ अध्यक्ष पीयूष शर्मा एवं अन्य अतिथियों के साथ ही चौरिया कुर्मी समाज के 25 हजार से अधिक लोगों ने शिरकत की। अंत में समाज के कार्यकारी अध्यक्ष शंभूदयाल पटेल ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए अगला सामूहिक विवाह सम्मेलन ग्राम साकेत-मोथिया के संयोजन में कराने की घोषणा की।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: