स्वच्छता में अव्वल आने के लिए नागरिक फीडबैक शुरू

स्वच्छता में अव्वल आने के लिए नागरिक फीडबैक शुरू

– एलआईसी के ब्रांच मैनेजर ने कहा, स्वच्छता में सहयोग करेंगे
इटारसी। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 (Swachh Survekshan 2022) के अंतर्गत नागरिकों को फीडबैक (Feedback) के लिए जागरूक किया जा रहा है। आज गुरुवार को नगर पालिका (Municipality) के कर्मचारियों की टीम भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation of India) के दफ्तर में पहुंची और वहां कार्यरत स्टाफ (Staff) और ग्राहकों को फीडबैक देने के लिए जागरुक किया। ब्रांच मैनेजर अनूप पाराशर (Branch Manager Anoop Parashar) और सहायक प्रशासनिक अधिकारी श्री पांडेय ने अपने सभी कर्मचारियों और ग्राहकों को स्वच्छता में सहयोग करने फीडबैक देने के लिए प्रेरित किया।दरअसल, स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के अंतर्गत नागरिकों से प्राप्त स्वच्छता फीडबैक पर भी अंक दिये जाएंगे, इसलिए अपने शहर की रैंकिंग (Ranking) बढ़ाना है तो नागरिकों को फीडबैक के माध्यम से सहयोग प्रदान करना जरूरी है। नागरिक फीडबैक का कार्य शुरु हो गया है। इसके साथ ही नगर पालिका की ओर से अलग-अलग वार्डों में जाकर लोगों को स्वच्छता सर्वेक्षण के बारे में जागरूक किया जा रहा है।
स्वच्छ सर्वेक्षण के दौरान केंद्र की टीमें शहर की सफाई व्यवस्था, कचरा प्रबंधन और शौचालयों की स्थिति का जायजा लेंगी। इसके साथ ही नागरिक फीडबैक का सिलसिला भी चलता रहेगा। स्वच्छता के मामले में वर्ष भर में किए सुधार कार्यों की स्थिति भी देखी जाएगी। नगर पालिका की ओर से आनलाइन नागरिक फीडबैक लिया जा रहा है। लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि वे स्वयं फीडबैक दें, साथ ही अपने पड़ोसियों को भी इसके लिए जागरूक करें।
मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्रीमती हेमेश्वरी पटले (Chief Municipal Officer Smt. Hemeshwari Patle) ने बताया कि हम प्रयास कर रहे हैं कि अधिक से अधिक नागरिक फीडबैक दें। सुधार हुआ है, तो उसका भी उल्लेख करें। जैसी स्थिति सामने दिखाई दे रही है, वैसा ही फीडबैक होना चाहिए। नागरिकों को कचरा प्रबंधन के लिए भी जागरूक किया जा रहा है। लोग अपने घरों में ही किचन वेस्ट से खाद बनाएं। उन्होंने कहा कि नागरिकों को अपने शहर में स्वच्छता के लिए जागरुक होना चाहिए और फीडबैक के माध्यम से वे अपने शहर की सफाई व्यवस्था में सहयोग कर सकते हैं।
ऐसे होगा फीडबैक
स्वच्छता के फीडबैक के लिए एक लिंक जारी की गई है, उसमें कुछ सवाल पूछे गये हैं, जिनका हां या न में जवाब देना है। इसमें आपका नाम, मोबाइल नंबर पूछा जाएगा और एक ओटीपी भेजा जाएगा। इसके अलावा नगर पालिका ने एक क्यूआर कोड भी जारी किया है, जिसे मोबाइस से स्कैन करके आप उस एप्लीकेशन पर पहुंच जाएंगे जहां आपको फीडबैक देना है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!