34 लाख से अधिक बच्चों के सुरक्षित टीकाकरण के बाद मप्र में कल से बाल टीकाकरण

34 लाख से अधिक बच्चों के सुरक्षित टीकाकरण के बाद मप्र में कल से बाल टीकाकरण

– तापमान को न बनने दें बाधा टीके की
– टीका टाइम पर तो सुरक्षा सुनिश्चित
– नाश्ता के बाद टीके को दें टाइम
इटारसी। पूरे देश में 16 मार्च से आरंभ हुये बाल टीकाकरण (Child Vaccination) को कल 23 मार्च से मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में आरंभ किया जा रहा है। इसमें 12 से 14 साल आयुवर्ग के बच्चों को कोविड (Kovid) से बचाने कोर्बेवेक्स वैक्सीन (Corbevax Vaccine) का टीकाकरण किया जायेगा।कोविड की चौथी लहर की आशंका को देखते हुये बच्चों को सुरक्षा देने, इस अभियान में बच्चों के पालकों की विशेष जिम्मेदारी है। पालक बच्चे को टीके लगवाने मनोवैज्ञानिक रूप से तैयार करें। यह बात नेशनल अवार्ड (National Award) प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू (Sarika Gharu) ने बाल टीकाकरण जागरूकता कार्यक्रम में कही।
सारिका ने बताया कि जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम (CEO Manoj Sariam) के मार्गदर्शन में यह जागरूकता कार्यक्रम किया जा रहा है। सारिका ने कहा कि इस समय तापमान 35 से 40 सैल्सियस के बीच है। आद्र्रता लगभग 13 प्रतिशत है। 11 किमी प्रतिघंटा की हवा है। ऐसे में सुबह सबेरे ही कम तापमान में टीका लगवाना ज्यादा अच्छा होगा। प्रशासन द्वारा टीकाकरण के पूर्व बच्चों को ओआरएस (ORS) का घोल दिया जायेगा ताकि शरीर में पानी एवं लवण की कमी न रहे।
सारिका ने बताया कि अब तक 181 करोड़ वैक्सीन डोज देश में लगाई जा चुकी हैं। 16 मार्च से अब तक से 12 से 14 साल के 34 लाख से अधिक बच्चों को ये टीके सुरक्षित रूप से लग चुके हैं। अत: कोई असुरक्षा का कोई भ्रम न रखें। सावधानी के तौर पर तपन भरे दिन में टीका लगवाने के पहले पेट कुछ भरा होना चाहिये। सारिका ने संदेश दिया कि शासन की थीम बच्चे सुरक्षित तो देश सुरक्षित के लिये सभी पालक जल्द से जल्द अपने बच्चों का टीकाकरण करवा कर कोविड को हरायें।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!