शरारती तत्वों द्वारा फिजां बिगाडऩे का प्रयास, प्रशासन ने असफल किया

शरारती तत्वों द्वारा फिजां बिगाडऩे का प्रयास, प्रशासन ने असफल किया

इटारसी। जिले में माखननगर (Makhannagar) में सेमरी हरचंद रोड (Semri Harchand Road) पर स्थित एक दरगाह में कतिपय शरारती तत्वों ने भगवा रंग पोतकर फिजां बिगाडऩे का प्रयास किया जिसे अधिकारियों ने सूझबूझ से असफल कर दिया। दरगाह पर भगवा रंग देखकर मुस्लिम समाज के लोगों ने स्टेट हाईवे (State Highway) पर चक्काजाम कर दिया। सूचना पर पुलिस और प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर समझाईश दी और सख्त कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया जिससे 15 मिनट में ही रोड से लोग हट गये।मामला माखनगर-सेमरी हरचंद रोड का है, जहां एक दरगाह में शरारती तत्वों ने दीवार और गुम्बद पर भगवान रंग पोत दिया। इसे देखकर नाराज मुस्लिम समाज के लोगों ने सुबह नर्मदापुरम-पिपरिया स्टेट हाईवे (Narmadapuram-Pipariya State Highway) पर चक्काजाम कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन मौके पर पहुंचा। एफआईआर (FIR) कर सख्त एक्शन (Action) लेने की बात कहकर लोगों को समझाया। प्रशासन से बातचीत के बाद करीब 15 मिनट बाद ही स्टेट हाईवे से लोग हट गये।
गौरतलब है कि नदी किनारे बनी मजार के साथ शनिवार रात में किसी ने छेड़छाड़ की है। सुबह खादिम मजार पहुंचा तो दूसरे लोगों को जानकारी दी। समाज के लोगों ने हाईवे पर जाम लगाकर नारेबाजी की। बाबई तहसीलदार दिलीप चौरसिया (Dilip Chaurasia), नायब तहसीलदार अतुल श्रीवास्तव (Atul Srivastava), थाना प्रभारी हेमंत कुमार श्रीवास्तव (Hemant Kumar Srivastava), सोहागपुर तहसीलदार पुष्पेंद्र निगम (Pushpendra Nigam) और सोहागपुर टीआई विक्रम रजक (TI Vikram Rajak) मौके पर पहुंचे। बाबई, सोहागपुर, पिपरिया, नर्मदापुरम, जिला पुलिस लाइन (Police Line) से भी फोर्स (Force) पहुंचा। लोगों को समझाकर जाम खुलवाया। थाना प्रभारी हेमंत श्रीवास्तव का कहना है कि असामाजिक तत्वों ने मजार से छेड़छाड़ की है। प्रशासन और पुलिस टीम सुबह 8.45 बजे मौके पर पहुंच गई थी। समाज के लोगों को समझाकर उन्हें शांत कराया गया है। बाबई तहसीलदार पुष्पेंद्र निगम ने बताया कि स्थिति अब सामान्य है। अज्ञात असामाजिक तत्वों पर एफआईआर कार्रवाई की जा रही है।
एसपी डॉ. गुरकरन सिंह (SP Dr. Gurkaran Singh) ने तनावपूर्ण माहौल बनने से बाबई, सोहागपुर थाने के अलावा पुलिस लाइन से बल भेजा था। स्थिति नियंत्रण में है। एक महीने पहले पचमढ़ी में भी ऐसी ही घटना हुई थी। जब 14 जनवरी को पचमढ़ी (Pachmarhi) में देनवा दर्शन (Denwa Darshan) के पास मजार के साथ असामाजिक तत्वों ने छेड़छाड़ की थी। वहां भी समाज के लोगों में चक्काजाम किया था। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने रातोंरात मजार पर सुधार किया था।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!