ओझा बस्ती में हो रहा नाबालिग का विवाह चाइल्ड लाइन की टीम ने रोका
Childline team stopped marriage of minor

ओझा बस्ती में हो रहा नाबालिग का विवाह चाइल्ड लाइन की टीम ने रोका

इटारसी। प्रियदर्शिनी नगर के पास स्थित ओझा बस्ती में एक नाबालिग का विवाह आज चाइल्ड लाइन की टीम के साथ तहसीलदार, पुलिस और महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम ने रुकवाकर लड़की के परिजनों को उसके बालिग होने तक रुकने के लिए राजी कर लिया। चाइल्ड लाइन के माध्यम से सूचना मिली थी कि ओझा बस्ती में एक नाबालिग अंजलि पिता मुकेश ओझा का विवाह लाड़कुई नसरुल्लागंज निवासी मुकेश के साथ हो रहा है। तहसीलदार पूनम साहू (Tehsildar Poonam Sahu), चाइल्ड लाइन (Childline) होशंगाबाद से काउंसलर कुसुम केवट, राजेश दुबे, महिला बाल विकास से पर्यवेक्षक दीप्ति शुक्ला, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पूजा गौर, सब इंस्पेक्टर कोमल सिंह रघुवंशी, एएसआई राजेन्द्र सिंह सराठे (ASI Rajendra Singh Sarathe), आरक्षक राजेश पवार (constable rajesh pawar) ने ओझा बस्ती पहुंचकर बाल विवाह रुकवाया। टीम ने लड़की के माता-पिता को समझाईा देकर कहा कि कम आयु में विवाह से बच्ची को कई प्रकार की परेशानी आएगी, उचित उम्र होने पर ही उसका विवाह करें।

इनका कहना है….
हमें चाइल्ड लाइन के माध्यम से सूचना मिली थी। हम पुलिस और चाइल्ड लाइन की टीम के साथ मौके पर पहुंचे, वहां विवाह हो रहा था, जिसे रोका गया और लड़की के माता-पिता को समझाईश दी कि कम उम्र में विवाह के लिए लड़की का शरीर तैयार नहीं होता है। ऐसे में उसे बीमारियां हो सकती हैं, उसे बालिग होने पर ही विवाह करें। वे लोग मान गये हैं और आश्वस्त किया है कि बालिग होने पर ही विवाह किया जाएगा।
पूनम साहू (Poonam Sahu, Tehsildar)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: