परिंदों की प्यास बुझाने बच्चों ने बनाये ‘बर्ड फीडर’

परिंदों की प्यास बुझाने बच्चों ने बनाये ‘बर्ड फीडर’

इटारसी। प्रज्ञान सीनियर सेकेंडरी स्कूल (Pragyan Senior Secondary School) द्वारा कम उम्र से ही छात्रों में मानवता के सिद्धांत विकसित करने के उद्देश्य से सभी छात्रों से ‘बर्ड फीडर’ (‘Bird Feeder’) बनवाए गए।
महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) जी द्वारा कहा गया है कि ‘किसी राष्ट्र की महानता और नैतिक प्रगति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वहाँ पशुओं के साथ कैसा व्यवहार किया जाता है।’
इस भीषण गर्मी में प्राणियों के प्रति मानवता पूर्ण व्यवहार सिखाने के लिए तथा छात्र जीवन से ही पशु पक्षियों व प्रकृति के प्रति अपना उत्तरदायित्व समझने के लिए नर्सरी से बारहवीं तक के छात्रों को ‘बर्ड फीडर’ बनाने के लिए प्रेरित किया गया। इस प्रकार से प्रकृति व पशु कल्याण एक्टिविटी (Animal Welfare Activity) करने से छात्रों व उनके पालकों ने सहर्ष इसमें सहयोग प्रदान किया। तथा इस नेक कार्य को छात्रों से करवाने के प्रयास की सराहना की।
शिक्षकों व पालकों द्वारा छात्रों को विभिन्न प्रकार के ‘बर्ड फीडर’ बनाने में मदद की गई प्रोत्साहित होकर छात्रों ने अपनी आयु के अनुसार कई प्रकार के ‘बर्ड फीडर’ बनाए।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!