इटारसी-भोपाल रेलखंड पर आधा दर्जन सब-वे का निर्माण पूर्ण

इटारसी-भोपाल रेलखंड पर आधा दर्जन सब-वे का निर्माण पूर्ण

इटारसी। पश्चिम मध्य रेल (West Central Railway) में अधोसंरचना के निर्माण कार्य को गति प्रदान करते हुए तीव्र गति से किया जा रहा है, इनमें रेलवे में समपार फाटकों पर अधिकतर परिणामी रेल दुर्घटनाओं में रोड यूजर्स शामिल हैं। रेल संरक्षा और यात्री सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए व्यस्ततम समपार फाटकों के पास आवश्यकतानुसार रोड ओवर ब्रिज/ रोड अंडर ब्रिज (Road Over Bridge/ Road Under Bridge) बनाकर समपार फाटकों को समाप्त किया जा रहा है।इसी श्रंखला में पमरे द्वारा अधोसंरचना के निर्माण कार्य में गति प्रदान करते हुए सड़क उपयोगकर्ताओं एवं नागरिकों की सुविधा के लिए माह जनवरी 2022 में कुल 08 आरयूबी/सीमित ऊंचाई सब वे (एलएचएस) (Subway (LHS)) का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है। जिसके अंतर्गत भोपाल मंडल (Bhopal Division) के इटारसी-भोपाल रेलखंड (Itarsi-Bhopal Railway Division) पर समपार फाटक संख्या 41, 58, 203, 290, 229 और किमी 829/1 के बदले 06 आरयूबी/एलएचएस, कोटा मण्डल (Kota Division) में समपार फाटक संख्या 97 के बदले 01 आरयूबी/एलएचएस (RUB/LHS) एवं जबलपुर मंडल (Jabalpur Division) में समपार फाटक संख्या 279 के बदले 01 आरयूबी/एलएचएस का निर्माण कार्य किया गया। इस प्रकार पमरे में 2021-22 में अभी तक 17 आरयूबी/सीमित ऊंचाई सब वे (एलएचएस) का निर्माण कार्य किया है।
उल्लेखनीय है कि आरयूबी/सीमित ऊंचाई सब वे (एलएचएस) एक प्रकार रेलवे अंडर ब्रिज है जो कि समपार फाटकों को बंद करके उनके स्थान पर बनाया गया है। जिससे रेल और रोड ट्रैफिक की अलग-अलग व्यवस्था सुनिश्चित हुई है। इसके साथ ही रोड एवं रेल ट्रैफिक में होने वाले व्यवधान को खत्म किया। इससे रोड एवं रेल परिचालन आसान तथा सुगम हुआ है।
इस आरयूबी/एलएचएस के निर्माण से संरक्षा में वृद्धि हुई है। आरयूबी/एलएचएस बन जाने से समपार फाटक बंद हो जाएंगे, जिससे रेल संचालन में गति प्रदान होगी। समपार फाटक बंद हो जाने से रेल ट्रैफिक (Rail Traffic) और आरयूबी/एलएचएस के अंडर ब्रिज से रोड ट्रैफिक 24गुणा 7 घंटे सुचारू रूप से लगातार चलता रहेगा। इसके साथ ही रेल लाईनों के दोनों तरफ से उपलब्ध्ता अच्छी रहेगी। जिससे दोनों दिशाओं में गाझिय़ों का समयपालन बेहतर होगा। रोड ट्रैफिक के सुगम संचालन में सहायक सिद्ध होगा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!