डॉक्टर बेटी ने मंथन के बच्चों को बताया डॉक्टर कैसे बनते हैं

डॉक्टर बेटी ने मंथन के बच्चों को बताया डॉक्टर कैसे बनते हैं

इटारसी। मंथन आर्ट एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी (Manthan Art Education & Welfare Society) की कांदई कलॉ में संचालित निशुल्क कोचिंग क्लास में शासकीय ग्वालियर मेडिकल कालेज (Gwalior Medical College) में पढऩे वाली डॉ. मयूरी चौधरी (Dr. Mayuri Choudhary) ने बच्चों के साथ अपने अनुभव साझा किए और डॉक्टर बनने की प्रक्रिया की जानकारी और टिप्स दिए।उन्होंने बच्चों को बताया कि सरकारी कालेज में साल भर की फीस 60 हजार से 1 लाख तक होती है, और आरक्षित और गरीब वर्ग के लिए स्कॉलरशिप (Scholarship) भी मिलती है। मंथन के कई बच्चों ने भविष्य में डॉक्टर बनने की इच्छा जाहिर की। उन्होंने बच्चों को बताया कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा ऑर्डनेंस फैक्ट्री इटारसी (Ordnance Factory Itarsi) के केंद्रीय विद्यालय नंबर 1 से हुई थी। इसके बाद 1 साल इंदौर और 2 साल कोटा राजस्थान से मेडिकल इंट्रेस्ट परीक्षा की तैयारी करने के बाद ऑल इंडिया मेडिकल इंट्रेस्ट एग्जाम (All India Medical Interest Exam) में रैंक लगने पर उनका ग्वालियर के सरकारी मेडिकल कालेज में चयन हुआ था।
वर्तमान में वो ग्वालियर मेडिकल कालेज से इंटर्नशिप (Internship) कर रही हैं जो जून में समाप्त हो जाएगी। मंथन सचिव अजय कुमार मेहरा और संचालक जियालाल मर्सकोले ने उनका स्वागत किया और आभार व्यक्त किया। इस मौके पर उमा चौधरी, गुड्डा पटेल मौजूद रहे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!