डीआरएम ने किया भोपाल-इटारसी-बानापुरा रेलखंड का निरीक्षण

डीआरएम ने किया भोपाल-इटारसी-बानापुरा रेलखंड का निरीक्षण

– यात्री सुविधाओं, विकास कार्य, संरक्षा, सुरक्षा पर फोकस
इटारसी। मंडल रेल प्रबंधक सौरभ बंदोपाध्याय (Divisional Railway Manager Saurabh Bandopadhyay) ने विभागाध्यक्ष अधिकारियों के साथ आज भोपाल मंडल (Bhopal Division) के भोपाल-इटारसी-बानापुरा रेल खंड (Bhopal-Itarsi-Banapura Rail Section) का विंडो (खिड़की) (Window Inspection) निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान मंडल रेल प्रबंधक ने इस रेल खंड पर स्थित रेल पुलों, रेल पथ, ओएचई (OHE ), संबद्ध उपकरण एवं सिग्नल प्रणाली (Signal System) का सघन निरीक्षण किया एवं कार्य क्षमता को परखा तथा आवश्यक सुधार के के संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।

सुविधा, सेवाओं का जायजा

इटारसी स्टेशन (Itarsi Station) का निरीक्षण के दौरान डीआरएम ( DRM) ने स्टेशन की सफाई, स्टेशन पर उपलब्ध यात्री सुविधाओं एवं सेवाओं का जायजा लिया और जरूरी सुधार के निर्देश मौके पर ही अधिकारियों को दिए। लॉबी का निरीक्षण के दौरान डीआरएम ने कर्मचारियों के लिए उपलब्ध सुविधाओं एवं सेवाओं का जायजा लिया। लॉबी (Lobby) कर्मचारियों से सुरक्षा एवं संरक्षा नियमों के सम्बंध में पूछताछ की और कर्मचारियों द्वारा दिये जवाब से संतुष्टि व्यक्त की। मालगोदाम का निरीक्षण के दौरान डीआरएम ने वहां पर उपलब्ध सुविधाओं का जायजा लिया और जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।


इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक ने व्यापारियों की समस्याओं को सुना और यथाशीघ्र उचित निराकरण करने का आश्वासन दिया। बानापुरा (Banapura) में डीआरएम ने वहां पर सार्वजनिक निजी भागीदारी (PPP Mode) के तहत विकसित किये जा रहे आधुनिक माल गोदाम का निरीक्षण कर कार्य की प्रगति एवं मालगोदाम उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। ज्ञात हो कि सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी मोड) के तहत प्लेटफॉर्म सरफेसिंग (Platform Surfacing) और सर्कुलेटिंग एरिया (Circulating Area), ड्रेनेज (Drainage), हाई मास्ट (High Mast) के साथ लाइटिंग (Lighting), नए मर्चेंट रूम (New Merchant Room) के साथ-साथ कामगारों के लिए सुविधाओं में सुधार के साथ बानापुरा माल गोदाम को विकसित किया जा रहा है। आज के निरीक्षण के दौरान मंडल रेल प्रबंधक के साथ वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्रीमती प्रियंका दीक्षित, वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर (टीआरओ) संजय तिवारी, मंडल इंजीनियर(दक्षिण) वशीम मोहम्मद, मंडल परिचालन प्रबंधक शशांक गुप्ता सहित अन्य अधिकारी व पर्यवेक्षक कर्मचारी उपस्थित रहे।

नार्थ-साऊथ अप/डाउन साइड ग्रेड सपरेटर का निरीक्षण

पश्चिम मध्य रेल के अपर महाप्रबंधक (Additional General Manager Shobhan Chowdhury ) शोभन चौधुरी ने आज इटारसी पहुंचकर नॉर्थ-साउथ अप/डाउन ग्रेड सेपरेटर (North-South Up/Down Grade Separator) का निरीक्षण कर निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लिया और निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक सौरभ बंदोपाध्याय तथा निर्माण एवं परिचालन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। ज्ञात हो कि फ्रेट ट्रेन (Freight Train) का परिचालन निर्बाध और सुगम बनाने के लिए इटारसी नार्थ-साऊथ अप साइड ग्रेड सपरेटर का निर्माण किया जा रहा है। नागपुर ( Nagpur) दिशा में जाने वाले इस इटारसी अप दिशा ग्रेड सेपरेटर की कुल लंबाई 12 किमी है। इस ग्रेड सेपरेटर में 03 मेजर ब्रिज, 26 माइनर ब्रिज, 09 आरयूबी (RUB) एवं 03 स्टेशन बिल्डिंग (Station Building) इत्यादि का निर्माण कार्य किया जा रहा है। इटारसी नार्थ-साउथ डाउन साइड ग्रेड सेपरेटर का भी कार्य तेज गति से चल रहा है। नागपुर दिशा से आने वाले इस इटारसी नार्थ-साउथ डाउन साइड ग्रेड सेपरेटर की कुल लंबाई 16 किमी है। इस ग्रेड सेपरेटर में 04 मेजर ब्रिज (Major Bridge), 41 माइनर ब्रिज (Minor Bridge), 07 आरयूबी (रोड अंडर ब्रिज) एवं 05 स्टेशन बिल्डिंग आदि का निर्माण कार्य किया जा रहा है। ग्रेड सेपरेटर के निर्माण कार्य में उच्च गुणवत्ता वाले मैटेरियल एवं तकनीक तथा हैवी मशीनिरी का उपयोग किया जा रहा है। इसी तरह इटारसी नार्थ-साउथ अप साइड ग्रेड सेपरेटर का का कार्य भी तेज गति से चल रहा है। यह कार्य वर्ष 2023 में पूर्ण करने का लक्ष्य है।

ये होंगे ग्रेड सेपरेटर्स के फायदे

इन ग्रेड सेपरेटरों की परियोजना से रेलवे को कई फायदे होंगे। नागपुर दिशा का माल यातायात इटारसी स्टेशन को बाईपास (Bypass) करते हुए चलाया जाएगा। रेल खण्ड के ट्रैक की क्षमता में वृद्धि होगी। रेल खंड में फ्रेट ट्रेन के परिचालन में वृद्धि के साथ गति प्रदान करेगा। माल यातायात में वृद्धि होने से फ्रेट ट्रेनों के समय मे बचत होगी साथ ही आवागमन में आसानी होगी। ट्रेन परिचालन में सुगमता आएगी। रेल राजस्व में भी वृद्धि होगी।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!