हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत गर्ल्स कॉलेज में हुई निबंध प्रतियोगिता

हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत गर्ल्स कॉलेज में हुई निबंध प्रतियोगिता

इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय में हिन्दी पखवाड़ा अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश के निर्देशानुसार स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत हुई राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता के प्रथम चरण संस्था स्तर निबंध प्रतियोगिता हुई जिसमें आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश में हिंदी की भूमिका विषय पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में सभी संकायों की छात्राओं ने सहभागिता की।
कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आरएस मेहरा ने कहा कि हिंदी भाषा की सहज स्वीकृति के कारण ही आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करने की दिशा में लगातार कार्य किया जा सका है। हिंदी विभाग प्रमुख तथा कार्यक्रम संयोजक डॉ श्रीराम निवारिया ने कहा कि हिंदी अपनी सरलता के कारण संप्रेषणीयता मे देश के अंदर सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा के स्थान पर स्थापित है। हिंदी को आगे बढ़ने के लिए किसी राजनीतिक वैशाखी की आवश्यकता नहीं है लेकिन राष्ट्रभाषा का स्थान दिलाने के लिए राजनीतिक समर्थन की बहुत जरूरत है। अंग्रेजी विभाग प्रमुख डॉ हरप्रीत रंधावा ने कहा कि हिंदी अपनी सीमाओं से बाहर आकर नई प्रौद्योगिकी और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की भाषा बन रही है। भौतिक शास्त्र विभाग प्रमुख डॉ शिरीष परसाई ने कहा कि हिंदी को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की भाषा बनाने से प्रदेश में आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सकारात्मक परिवर्तन आया है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से समृद्ध भारत के असीमित ज्ञान का उपयोग एवं संवर्धन हिंदी भाषा को आत्मसात करने पर ही संभव है। वाणिज्य विभाग के डॉ पुनीत सक्सेना ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती में हिंदी भाषा का अहम योगदान है। कार्यक्रम में डॉ मुकेश कटकवार, गुरुशा राठौर तथा अनेक छात्राएं उपस्थित थी। संस्था स्तर पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान ज्योति जैसवाल, द्वितीय स्थान विशाखा सैनी तथा तृतीय स्थान अदिति पटेल ने प्राप्त किया।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: