मूंग में पानी के लिए किसान आरपार की लड़ाई के मूड में

मूंग में पानी के लिए किसान आरपार की लड़ाई के मूड में

इटारसी। अपनी मूंग की फसल (Moong Crop) को बचाने के लिए किसान अब आरपार की लड़ाई के मूड में आ गया है। किसान नहरों पर जाकर हरदा जिले (Harda District) को पर्याप्त पानी देने के बावजूद कृषि मंत्री (Agriculture Minister) के निर्देश पर कथित दबाव में पानी देने का विरोध कर रहा है। कल भी क्रांतिकारी किसान मजदूर संघ के पदाधिकारियों से स्थानीय अधिकारी यह कहते सुने गये हैं कि हम पर उच्चाधिकारियों का दबाव है, अन्यथा वे हम निबटा देंगे। किसानों ने उनको कहा कि चुनाव आने दो, अपन इनको ही निपटा देंगे।आज ग्राम बम्हनगांव (Village Bamhangaon) के युवा किसानों (Young Farmers) ने नहर के पानी में खड़े होकर एक प्रकार से जलसत्याग्रह कर नर्मदापुरम जिले (Narmadapuram District) के किसानों को पर्याप्त पानी देने की मांग की है। जिले के किसानों का कहना है कि हरदा को पानी देते हुए 54 दिन हो चुके हैं, वहां पर्याप्त पानी हो गया है जबकि यहां अभी एक पानी शेष है, ऐसे में किसानों की मांग है कि कम से कम 30 मई तक उनको पानी दिया जाए।

कार्यपालन यंत्री से मिले किसान

आज क्रांतिकारी किसान मजदूर संघ (Revolutionary Kisan Mazdoor Sangh) के पदाधिकारियों ने जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री आईडी कुमरे से मिलकर किसानों की परेशानियों से अवगत कराया है। बता दें कि नहर विभाग ने 24 मई से नहरों में पानी बंद करने की घोषणा की है, क्योंकि सालभर के लिए तवा बांध में एक निश्चित मात्रा में पानी रखना अनिवार्य है। इस अवसर पर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष लीलाधर राजपूत, जिलाध्यक्ष हरपाल सिंह सोलंकी, अरुण पटेल, देवेन्द्र पटेल सहित अनेक किसान मौजूद रहे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!