मानव मूल्य प्रतिपादित करना है तो श्रीराम के आचरण आत्मसात करने होंगे

मानव मूल्य प्रतिपादित करना है तो श्रीराम के आचरण आत्मसात करने होंगे

इटारसी। ग्राम जमानी (Village Jamani) में तिलक सिंदूर मार्ग (Tilak Sindoor Marg) पर सार्वजनिक सहयोग से श्री राम कथा (Shri Ram Katha) समारोह का आयोजन किया जा रहा है।

कथा के पांचवे दिवस में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम (Maryada Purushottam Lord Shri Ram) की भव्य बारात ग्रामवासियों ने निकाली जो संपूर्ण गांव का भ्रमण करते हुए कथा स्थल पर संपन्न हुई। ग्राम जमानी में आयोजित इस धार्मिक आयोजन में गांव के ही प्रतिभावान बाल ब्राह्मण पं. उदित दुबे (Pt. Udit Dubey) मानस मर्मज्ञ के रूप में श्री राम कथा रूपी मानस मंदाकिनी प्रवाहित कर रहे हैं।
श्री राम विवाह के साथ ही पुष्प वाटिका, धनुष यज्ञ आदि प्रसंगों का सुंदर वर्णन करते हुए आचार्य उदित दुबे ने कहा कि श्री राम का चरित्र हमें संस्कार में जीवन प्रदान करता है। हमें इस संसार में अपने मानव मूल्यों को प्रतिपादित करना है, तो प्रभु श्री राम के कुछ आचरण तो आत्मसात करने ही होंगे। सिर्फ जय श्री राम के उद्घोष करने से कुछ नहीं होगा। गांव के इस विद्वान बाल ब्राह्मण की आध्यात्मिक प्रतिभा को देखने वह सुनने के लिए संपूर्ण ग्राम वासी प्रतिदिन बड़ी संख्या में कथा पंडाल में उपस्थित हो रहे हैं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!