मेले में वायरस मिलाप से बचा सकता है मास्क

मेले में वायरस मिलाप से बचा सकता है मास्क

– जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम (CEO Manoj Sariam) के मार्गदर्शन में मास्क जागरुकता कार्यक्रम
इटारसी। वर्तमान में कोविड केस (Kovid Case) की कम होती संख्या और आर्थिक गतिविधियों को सामान्य करने की दृष्टि से मेले आरंभ किये जा रहे हैं, लेकिन अब आपकी जिम्मेदारी है कि इसे वायरस (Virus) मिलाप का माध्यम न बना दें।

टीके से आंतरिक सुरक्षा प्राप्त करने के बाद बाहरी कवच के रूप में सिर्फ मास्क (Mask) ही मददगार हो सकता है।
यह संदेश एक्सीलेंस केसला (Excellence Case) के विज्ञान शिक्षक राजेश पाराशर (Teacher Rajesh Parashar) ने ग्राम आरी और मोथिया में आयोजित मास्क जागरूकता कार्यक्रम में दिया। कार्यक्रम का आयोजन जिला पंचायत के सीईओ मनोज सरियाम के मार्गदर्शन में किया गया। बच्चों के बीच आयोजित कार्यक्रम में एक मेला ग्राउंड (Fair Ground) का मॉडल (Model) बनाया गया। इसमें मास्क की रक्षक दीवार पर जब कोविड के वायरस ने आक्रमण करना चाहा तो वह भीतर नहीं प्रवेश कर पाया।
राजेश पाराशर ने कहा कि मेले में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) की अपेक्षा नहीं की जा सकती है, लेकिन मास्क का प्रयोग करके अनजाने वायरस को शरीर में प्रवेश करने से रोका जा सकता है। इसके साथ ही साबुन या सेनिटाईजर (Sanitizer) से हाथ धोने के बाद ही कुछ खायें।
कार्यक्रम में प्रदीप चौहान (Pradeep Chauhan) ने मास्क को उचित प्रकार से लगाने का तरीका बताया। एमएस नरवरिया (MS Narwaria) ने मॉडल के प्रयोग का संचालन किया। बच्चों ने मास्क को लगाये रखने का संकल्प लिया। संजीव साहू (Sanjeev Sahu), हरीश चौधरी (Harish Chaudhary) ने कोविड की अन्य जानकारी दी। मेलों का लें आनंद लेकिन ध्यान रखें कोविड ने अभी ब्रेक लिया है, समापन अभी बाकी है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!