बिना किसी नतीजे के, भाषणबाजी तक सीमित रहीं क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक

बिना किसी नतीजे के, भाषणबाजी तक सीमित रहीं क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक

प्रयास करें, हम लॉकडाउन के दोषी न हों : डॉ. शर्मा

इटारसी। कोरोना वायरस नियंत्रण (Corona virus control) के लिए आज क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक यहां कवि भवानीशंकर मिश्र ऑडिटोरियम में हुई। बैठक में कोई निर्णय तो नहीं किये अलबत्ता सभी ने केवल अपने विचार व्यक्त किये और पिछले कुछ दिनों से चल रही प्रशासन विरुद्ध व्यापारी के माहौल पर चर्चा की गई। कुल जमा यह बैठक क्राइसेस मैनेजमेंट की नहीं होकर केवल व्यापारी और प्रशासन के बीच हो जाती तो भी कुछ विशेष फर्क नहीं होता। क्राइसेस के मैनेजमेंट पर जितनी बातें हुईं, वे पूर्व की बैठकों की ही दोहरायी गयी हैं। निर्णय के नाम पर बड़ा शून्य ही हासिल हुआ है और केवल भाषणों तक बैठक सीमित होकर रह गयी है।
बैठक में विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma) ने व्यापारी विरुद्ध प्रशासन के मुद्दे पर कहा कि अब इसे खत्म किया जाना चाहिए। कृपया दोनों पक्ष गतिरोध समाप्त करें और समन्वय के लिए आपस में बैठकर चर्चा करें। साथ ही यह भी जोड़ा कि पिछले दिनों धर्माधिकारी वाले मामले में सबने वीडियो देखा है, उसका प्रशासनिक कार्रवाई से कोई लेनादेना ही नहीं था, उसने विवाद शुरु किया। ऐसे लोगों को यदि सपोर्ट करेंगे तो शहर में अराजकता का माहौल बन सकता है। जहां तक अतिक्रमण या सीमा से अधिक बाहर तक सामान रखने की बात है तो हमारा कहना है कि व्यापारी स्वयं निर्णय करें कि उनको इस सीमा से बाहर नहीं आना है। व्यापारियों ने उस घटना के बाद 9 बजे बंद नहीं करने का जो निर्णय लिया वह एकतरफा है, जबकि यह जिले से हुआ था। आप एकतरफा फैसला नहीं कर सकते हैं।

लॉकडाउन के दोषी न हों
विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा ने कहा कि व्यापारी निश्चिंत हो जाएं, लॉकडाउन नहीं लगेगा। सरकार भी इसके पक्ष में नहीं है। लेकिन, हम अपनी आदतें बदलें, कोरोना की गाइड लाइन का पालन करें। यदि हमने अपनी आदतें नहीं छोड़ी और नियमों का पालन नहीं किया तो ऐसा न हो कि हम ही लॉकडाउन (Lockdown) के लिए दोषी हो जाएं। उन्होंने कहा कि व्यापारी कहते हैं कि हमें ही दोषी माना जाता है तो उन्होंने कहा कि दोषी नहीं हैं, लेकिन भीड़ बाजार में ही होती है, इसलिए व्यापारियों को कहा जाता है, कि उनकी ज्यादा जिम्मेदारी बनती है कि सावधानी रखें।

कोरोना को समझ पाना कठिन
उन्होंने कहा कि कोरोना को समझ पाना कठिन है, दुनियाभर के वैज्ञानिक और डॉक्टर भी नहीं समझ पा रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सेनेटाइजर पर किसी ने सवाल नहीं उठाए बाकी जांच और उपचार सहित अन्य चीजों पर सवाल उठ चुके हैं। यह अज्ञात शत्रु है, अत: सावधान होकर ही इससे लडऩा होगा। सर्दी खांसी वालों को भी सावधान रहना होगा।
एसडीएम ने कहा मास्क लगाना अनिवार्य है इसके अलावा कोरोना वायरस की गाइडलाइन के बारे में जानकारी दी। टीआई रामसनेही चौहान (TI Ramsnehi Chauhan) ने बोला कि आज कोरोना के कोई लक्षण नहीं आ रहे फिर भी लोग पॉजिटिव आ रहे हैं, इसलिए शासन जो भी व्यवस्था बना रही है उसका पालन करें। वैक्सिंग जरूर लगाएं और सतर्कता रखें। बैतूल की ओर से आने वाली बसों में हम सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक स्कैनिंग करेंगे। कोरोना वायरस पर विजय के लिए शासन को कोरोना से लडऩे के लिए कड़े कदम उठाने पड़ेंगे जिससे लोगों में संदेश जाए की प्रशासन अब एक्शन मोड में है। दीपक अठोत्रा ने कहा कि वेक्सीन सेंटर पर पर्याप्त स्थान हो, वहां टेंट लगवाया जाए और कुर्सियां बढ़ाई जाए, सब्जी मंडी की भीड़ को पिछली व्यवस्था के अनुसार कम किया जाए, बाजार का समय कम कर दें, होटलों में पैकेजिंग सिस्टम लागू किया जाए।

भरत वर्मा ने कहा पॉजिटिव पेशेंट के नाम डिक्लेअर किए जाएं जिससे दूसरे लोगों को सहूलियत होगी। पूर्व नपाध्यक्ष रवि जायसवाल (Former Vice President Ravi Jaiswal) ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करें। यदि नहीं किया तो माना हम खुद ही सुसाइड कर रहे हैं। व्यापारी महासंघ के अध्यक्ष दीपक अग्रवाल (Business Federation President Deepak Agrawal) ने पुरानी इटारसी में वैक्सीनेशन सेंटर में कुछ कमियों पर ध्यान दिलाया और व्यापारियों के साथ प्रशासन के टकराव पर कहा कि व्यापारी कभी टकराव नहीं चाहता, प्रशासन को भी अपना बर्ताव ठीक करना होगा। व्यापारी हम मुद्दे पर सहयोग को तैयार है। कन्हैया गुरयानी ने कहा कि प्रशासन द्वारा अपनी कार्रवाई के दौरान जो जुर्माना किया जाता है, अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई चलती है, कभी किसी ने विरोध नहीं किया। उन्होंने अस्पताल की व्यवस्था में सुधार की मांग की और रैपिड जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे असमंजस की स्थिति बन रही है। गुरुद्वारा गुरुसिंघ सभा के प्रधान जसवीर सिंह छाबड़ा (Pradhan Jasveer Singh Chhabra) ने लॉकडाउन के वक्त की गई सेवा का जिक्र करते हुए कहा कि कठिन वक्त है, सावधानी बरतें। संदेश पुरोहित ने अच्छी व्यवस्था के लिए विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा को धन्यवाद देते हुए कहा कि पहले भय था तो लोग डरते थे, अब लोग बेखौफ होकर घूम रहे और कोरोना को बढ़ा रहे हैं।

बैठक में पुरानी इटारसी का प्रतिनिधि करते हुए जयकिशोर चौधरी ने वहां के व्यापारियों की तारीफ कर कहा कि वे गाइड लाइन का पालन करते हैं। लायंस क्लब की ओर से भारतभूषण गांधी ने दस हजार मास्क देने की घोषणा की। राजा तिवारी ने नो मास्क, नो एंट्री लागू करते हुए कुछ पाइंट पर जांच की मांग की। संचालन एसडीएम एमएस रघुवंशी (SDM MS Raghuvanshi) ने करते हुए शासन की गाइड लाइन को दोहराया।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: