मप्र वन एवं वन्यप्राणी कर्मचारी संघ ने दिया मांगों का ज्ञापन

मप्र वन एवं वन्यप्राणी कर्मचारी संघ ने दिया मांगों का ज्ञापन

इटारसी। मध्यप्रदेश वन एवं वन्य प्राणी कर्मचारी संरक्षण संघ (Madhya Pradesh Forest and Wildlife Employees Conservation Association) द्वारा कर्मचारियों को समय पर भुगतान न होने के संबंध में मुख्य वन संरक्षक नर्मदापुरम (Chief Conservator of Forests Narmadapuram) एवं सतपड़ा टाइगर रिजर्व (Satpada Tiger Reserve) को ज्ञापन दिया गया।
मध्यप्रदेश वन एवं वन्य प्राणी कर्मचारी संरक्षण कर्मचारी संघ नर्मदापुरम के कार्यकारी जिलाध्यक्ष उदित सोनटके के नेतृत्व में दिये ज्ञापन के अवसर पर जिला सचिव नीरज मेहरा, जिला कोषाध्यक्ष पदम सिंह राजपूत, जिला उपाध्यक्ष चूड़ामणि मिश्रा, श्रीमती ममता दमाड़े एवं अन्य साथी मौजूद रहे।
ज्ञापन में उल्लेख किया है कि मप्र शासन वित्तीय विभाग के आदेश अनुसार वर्ष 2020-21 की समस्त कर्मचारियों की रुकी हुई वेतनवृद्धि का एरियर भुगतान माह जनवरी एवं मार्च 2022 दो किश्तों में देना था, अब भी एक भी किश्त नहीं मिली है। टायगर रिजर्व के बफर जोन/कोर वन परिक्षेत्र के कर्मचारियों को टायगर अलाउंस, पोषणाहार भत्ता, यात्रा भत्ता वर्ष 2020-21-22 का भुगतान नहीं किया गया है। वन कर्मचारियों द्वारा सर्वेक्षण सुरक्षा, सतत गश्ती एवं अन्य कार्य किया जाता है जिसमें उनके निजी वाहनों का उपयोग होता है। ऐसे में निजी वाहन शासकीय कार्य में उपयोग हेतु स्वीकृति प्रदान कर यात्रा भत्ता प्रदान किया जाये, सतपुड़ा टायगर रिजर्व में सुरक्षा गश्ती नियंत्रण के अवलोकनार्थ जो मोबाइल आवंटित किये थे, अधिकतर मोबाइल काम नहीं कर रहे हैं, रख-रखाव स्वयं वन कर्मचारी अपने खर्च पर करता है, इसका भुगतान शासकीय मदों से किया जाए एवं वन परिक्षेत्रों के माध्यम से पदस्थ समस्त वन कर्मचारियों को प्रतिवर्ष फार्म-16 एवं प्रतिमा वेतन पर्ची प्रदान की जाए।

 

समुदाय की पुष्टि का आइकॉन
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!