सांसद ने जल जीवन मिशन में सेंट्रल मॉनिटर्स नियुक्त करने लोकसभा में रखी मांग

सांसद ने जल जीवन मिशन में सेंट्रल मॉनिटर्स नियुक्त करने लोकसभा में रखी मांग

इटारसी। नर्मदापुरम-नरसिंहपुर संसदीय क्षेत्र (Narmadapuram-Narsinghpur Parliamentary Constituency) के सदस्य उदयप्रताप सिंह (Uday Pratap Singh) ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के हर घर में जल पहुंचाने की योजना जल जीवन मिशन की मॉनिटरिंग (Monitoring), गुणवत्ता बनाये रखने के लिए सेंट्रल मॉनिटर्स (Central Monitors) नियुक्त करने की मांग लोकसभा में रखी।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) के माध्यम सांसद उदय प्रताप सिंह ने लोकसभा सदन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) के द्वारा पूरे देश में ‘हर घर जल’ पहुंचाने का एक महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। इन कार्यों को राज्यों में और अधिक गुणवत्तापरक व भृष्टाचार मुक्त बनाने के लिए सेंट्रल मॉनिटर्स नियुक्त करने की माग रखी। सांसद ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना का उदाहरण देते हुए कहा कि योजना में सेंट्रल मॉनिटर्स होने से सड़कें गुणवत्ता की बनी हैं।
जल जीवन मिशन में कई राज्यों में पैसों का पूरा सदुपयोग नहीं हो पा रहा है, कहीं पाइप गुणवत्ताविहीन हैं तो कहीं नलों में टोंटी नहीं लगाने की शिकायतें हैं। कुछ जगह पाइप डालने के लिए नालियां खोदी गई हैं तो उनको बंद करके सड़कों में सुधार नहीं किया है। सेंट्रल मॉनिटर्स नियुक्त होने से सारी परेशानियां खत्म होकर कार्य भी गुणवत्तापूर्ण होगा।

एक नजर जल जीवन मिशन पर

जल जीवन मिशन स्कीम के लिए सरकार ने इस मिशन के लिए 3.60 लाख करोड़ बजट देने का प्रावधान किया है। जिसमे राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा अलग-अलग बजट दिया जाएगा। इस योजना के माध्यम ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के घरों में पीने के पानी के लिए जल कनेक्शन लगाये जाएंगे। योजना पर काम चल रहा है और तीन करोड़ से अधिक ग्रामीण परिवारों को वाटर कनेक्शन (water connection) प्रदान किया है।
जल जीवन मिशन स्कीम की शुरुआत प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष में 15 अगस्त 2019 को की थी। देश के लगभग 50 फीसद ऐसे ग्रामीण क्षेत्र हैं जहां अभी भी लोगों को पानी की समस्या होती है उन क्षेत्रों में पीने के पानी को पहुंचाने के लिए मोदी ने इस स्कीम का शुभारंभ किया। योजना का उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में पानी की सुविधा उपलब्ध कराना है। बढ़ती जनसंख्या के साथ साथ पानी जैसी समस्या भी बढ़ती जा रही है ऐसे कई ग्रामीण क्षेत्र है जहां पानी की सुविधा उपलब्ध नहीं है और लोगों को कई किलोमीटर दूर पैदल चल कर पानी लाना पड़ता है। पानी की कमी से किसानों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन सभी परेशानियों को देख कर सरकार ने जल जीवन मिशन स्कीम की शुरुआत की है। इस मिशन के तहत जिन इलाकों में पानी नहीं है वहां हर घर में पाइप लाइन के माध्यम से पानी पहुंचाया जाएगा। इस मिशन को सरकार ने हर घर जल योजना का नाम भी दिया है। स्कीम का लाभ लेने के लिए उन लाभार्थियों को पात्र माना जाएगा जिनके घर में पानी का कनेक्शन नहीं है।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!