कन्यादान योजना पूर्ववत रखने साहू ने दी मुख्यमंत्री को सलाह

कन्यादान योजना पूर्ववत रखने साहू ने दी मुख्यमंत्री को सलाह

कहा, नई कन्यादान योजना में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा
इटारसी/भोपाल। मध्य प्रदेश तैलिक साहू सभा भोपाल (Madhya Pradesh Tailik Sahu Sabha Bhopal) के मुख्य सलाहकार रमेश के साहू ने कहा है कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना (Mukhyamantri Kanyadan Yojana)में 55 हजार रुपए प्रति जोड़ा व्यय किए जाने के तरीके में बदलाव से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा और समाजसेवी संस्थाएं हतोत्साहित होंगी। श्री साहू ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) से निवेदन किया है कि भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले अव्यवहारिक बदलाव तत्काल वापस लेकर पूर्ववत व्यवस्था लागू की जाए।श्री साहू ने कहा कि पूर्व में 38 हजार रुपए कन्या के खाते में ट्रांसफर (Transfer) किए जाते थे एवं 3 हजार प्रति जोड़े के हिसाब से आयोजन करने वाली संस्था को दिए जाते थे। अब उक्त आयोजन नगर निगम और जिला पंचायत के माध्यम से करने तथा कन्या के खाते में राशि के बजाए सामग्री देने की व्यवस्था लागू की जा रही है वह अव्यावहारिक है, क्योंकि अनुपयोगी, कम कीमत का ज्यादा बिल राशि के साथ घटिया सामान जोड़ों को प्राप्त होगा जिससे शासकीय तंत्र को भ्रष्टाचार का अवसर मिलेगा।
श्री साहू ने कहा कि पायल, बिछिया, टीका, मंगलसूत्र के वजन तो बता दिए हैं किंतु उसने भ्रष्टाचार के लिए खोट का परसेंटेज नहीं बताया, वहीं टीवी, रेडियो, अलमारी, कुर्सी, पलंग, सिलाई मशीन आदि घटिया सामग्री कम कीमत की ज्यादा बिल के साथ खरीदी जाएगी और खुला भ्रष्टाचार होगा। सामाजिक संगठन जो कि समाज सेवा के रूप में वर्षों से आदर्श सामूहिक विवाह का आयोजन कर रहे हैं उनको पृथक कर सरकारी तंत्र को भ्रष्टाचार के लिए आगे लाना गलत निर्णय है, जो तत्काल वापस लिया जाना चाहिए। श्री साहू ने कहा कि अनेक ऐसे परिवार हैं जिनके घर में रहने की जगह नहीं है, वो डाइनिंग टेबल (Dining Table) का क्या करेंगे? जिस कन्या को सिलाई नहीं आती वो सिलाई मशीन (Sewing Machine) का क्या करेगी?
इसलिए मध्यप्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री पुनर्विचार करें और पूर्ववत व्यवस्था लागू करें। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में वर-वधू ज़रूरत के मुताबिक राशि का सदुपयोग कर सके और सामाजिक संगठन भी समाज सेवा से पृथक न किए जाए। ऐसी व्यवस्था लागू हो।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!